ब्रेकिंग न्यूज़
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने शिवराज के काम में रुकावट डाली: पीएम मोदीअमृतसर निरंकारी भवन हमला : शक के आधार पर दो स्थानीय लड़कों को पुलिस ने किया गिरफ्तार2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी सुषमा स्वराज, खराब सेहत का दिया हवालाजमशेदपुर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, चोरों के एक गिरोह को किया गिरफ्तारबिहार कैबिनेट की बैठक: 4 प्रस्तावों पर लगी मुहर, MLA और MLC का बढ़ेगा वेतननो पार्किंग से कार उठाने पर भड़की लड़की, पुलिसकर्मी को चप्पल से पीटादिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर से हमला2019 से पहले जड़ें मजबूत करने में जुटी प्रसपा, 9 दिसंबर को महारैली कर करेगी प्रदर्शन
राष्ट्रीय
राजस्‍थान विधानसभा चुनाव: जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र ने भाजपा छोड़कर थामा कांग्रेस का 'हाथ'
By Deshwani | Publish Date: 17/10/2018 2:04:15 PM
राजस्‍थान विधानसभा चुनाव: जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र ने भाजपा छोड़कर थामा कांग्रेस का 'हाथ'

नई दिल्‍ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र सिंह का आखिरकार भाजपा से नाता टूट गया। उन्‍होंने आज कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने अपने आवास पर कांग्रेस का खेस पहना कर मानवेंद्र सिंह को कांग्रेस पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण कराई। पार्टी के प्रभारी सचिव प्रभारी सचिव विवेक बंसल ने यह जानकारी दी। इस दौरान मानवेंद्र सिंह ने राजस्थानी पोशाक में पंचरंगी साफा पहना था। इस मौके पर अशोक गहलोत, सचिन पायलट, अविनाश पांडे, भंवर जितेंद्र सिंह और हरीश चौधरी जैसे पार्टी के वरिष्‍ठ नेता मौजूद थे।

 
अगले महीने होने जा रहे विधानसभा चुनावों के मद्देनजर इससे पहले बगावत के तेवर दिखाते हुए मानवेंद्र ने पिछले ही महीने बाड़मेर में स्वाभिमान रैली की और 'कमल का फूल, बड़ी भूल' कहते हुए बीजेपी से अलग होने का ऐलान किया था। बीजेपी और खासकर सीएम वसंधुरा राजे से लंबे समय से असंतुष्‍ट चल रहे मानवेंद्र ने 2013 का विधानसभा चुनाव बीजेपी के टिकट पर बाड़मेर की शिव विधानसभा सीट से लड़ा और जीता था।
 
कांग्रेस नेताओं का मानना है कि मानवेंद्र के पार्टी में आने का फायदा आगामी विधानसभा चुनाव में मिलेगा क्योंकि इससे राजपूत मतदाताओं के वोट पार्टी को मिलेंगे, वहीं बीजेपी के अनुसार यह मानवेंद्र सिंह का 'राजनीतिक रूप से गलत फैसला' है और इससे कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, राजपूत मतदाता पार्टी के साथ ही रहेंगे।
 
कांग्रेस के बाड़मेर जिला अध्यक्ष फतेह खान ने कहा कि राजपूत समुदाय बीजेपी से खुश नहीं था और मानवेंद्र सिंह के कांग्रेस में आने से पार्टी के लिए जीत की राह और मजबूत होगी। उन्होंने कहा,' राजपूतों का बड़ी संख्या में वोट हैं जो वसुंधरा राजे सरकार से नाखुश चल रहे थे। मानवेंद्र के आने से कांग्रेस को फायदा होगा।' पश्चिमी राजस्थान में अनेक सीटों पर राजपूत मतदाता निर्णायक भूमिका निभाते आ रहे हैं।
 
वहीं भाजपा का कहना है कि मानवेंद्र के इस कदम का पश्चिमी राजस्थान में पार्टी की संभावनाओं पर कोई असर नहीं होगा। संसदीय कार्य मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने संवाददाताओं से कहा,' मानवेंद्र सिंह का यह राजनीतिक रूप से गलत फैसला है जिसका पार्टी पर कोई असर नहीं होगा। राजपूत मतदाता भाजपा के साथ रहे हैं और भाजपा के ही साथ रहेंगे।' राठौड़ ने कहा कि मानवेंद्र को यह फैसला करने से पहले सोचना चाहिए था। इसके साथ ही उन्होंने आगाह किया कि कांग्रेस में उनके साथ बड़ा धोखा हो सकता है।
 
उन्होंने दावा किया कि राजपूत बीजेपी के पारंपरिक मतदाता रहे हैं और मानवेंद्र के जाने से इस पर कोई प्रभाव नहीं पडेगा। राजपूत वोट केवल बीजेपी के साथ ही रहेंगे। बाड़मेर के शिव विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी उम्मीदवार मानवेंद्र सिंह ने 2013 के विधानसभा चुनाव में 31 हजार 425 मतों के अंतर से जीत हासिल की थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS