ब्रेकिंग न्यूज़
राफेल पर कांग्रेस के दुष्प्रचार का देश भर में पर्दाफाश करेगी भाजपामध्यप्रदेश: चुनाव से पहले शिवराज कैबिनेट की अहम बैठक, प्रदेश को मिलीं ये नई सौगातेंसलमान खान के इस गाने ने बना दिया रिकॉर्ड, बॉलीवुड में आज तक नहीं हुआ ऐसाबिजली संकट को लेकर धनबाद के लोगों ने सरकार के विरोध में खोला मोर्चायूपीः कुलदीप यादव गिरफ्तार, गरीब लोगों को धर्म परिवर्तन के लिए करता था प्रभावितलगातार हो रही बारिश और बर्फबारी से केदार घाटी में जनजीवन अस्त-व्यस्त, सैकड़ों यात्री फंसेतेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, कहा- बिहार में आम हो गया AK-47 हथियारपदमा शुक्ला हुई बागी, भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का हाथ
राष्ट्रीय
कानून में संशोधन के बिना एकसाथ चुनाव कराना संभव नहीं : चुनाव आयोग
By Deshwani | Publish Date: 14/8/2018 3:50:27 PM
कानून में संशोधन के बिना एकसाथ चुनाव कराना संभव नहीं : चुनाव आयोग

नई दिल्ली। देश में एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव कराने की भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदों को चुनाव आयोग से झटका लगा है। चुनाव आयोग का कहना है कि देश में इतने वीवीपैट ही नहीं हैं कि 11 राज्य के विधानसभा चुनाव और देश में लोकसभा चुनाव एक साथ करवाएं जाएं।

मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत के मुताबिक, अगर 11 राज्यों के विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव एक साथ करवाने हैं तो इस पर अगले एक-दो महीने में ही फैसला लेना होगा। क्योंकि इसके लिए काफी बड़ी मात्रा में नई वीवीपैट मशीनें ऑर्डर करनी होंगी।

इसके अलावा चुनाव आयोग की ओर से ये भी कहा गया है कि साल के अंत में होने वाले 4 राज्यों के विधानसभा चुनाव के साथ भी लोकसभा चुनाव नहीं करवाए जा सकते हैं। इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी एक देश-एक चुनाव पर बयान दिया है। उनका कहना है कि अभी की परिस्थिति में ये संभव नहीं है।

गौरतलब है कि 'एक देश एक चुनाव' के तहत लोकसभा और विधानसभा चुनाव को एक साथ कराने में भले ही मोदी सरकार और चुनाव आयोग के सामने संवैधानिक दिक्कतें हों, लेकिन बीजेपी सूत्रों की मानें तो 2019 में लोकसभा के साथ एक दर्जन राज्यों के विधानसभा चुनाव कराकर 'एक देश एक चुनाव' की दिशा में एक बड़ा उदाहरण पेश कर सकती है।

बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक इसके लिए किसी तरह के संविधान संशोधन या चुनावी नियमों में कोई बड़ा संशोधन करने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। लेकिन अब चुनाव आयोग के जवाब के बाद इन अटकलों पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS