ब्रेकिंग न्यूज़
तेजस्वी ने सरकारी बंगला खाली करने के पटना हाईकोर्ट के फैसले को दी चुनौतीबैग में मिली मॉडल की लाश, पुलिस ने 4 घंटे के अंदर पकड़ा आरोपी दोस्तगोवा में कांग्रेस को बड़ा झटका, 2 विधायकों ने इस्‍तीफा देकर थामा भाजपा का दामनभोजपुरी स्‍टार रानी चटर्जी की फिल्‍म ‘रानी वेड्स राजा’ का First Look मचा रहा है धूमप्रशांत किशोर का जदयू में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्षयमन के राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री को किया बर्खास्त, लापरवाही बरतने का आरोपबक्सर में वार्ड सदस्य की बेरहमी से हत्या, दो दिन से था लापतागाजियाबाद: बंद रेलवे क्रॉसिंग पार करते हुआ दर्दनाक हादसा, एक की मौत तीन घायल
राष्ट्रीय
मिशन 2019: कांग्रेस ने बनाई 300 सीटों की रणनीति, राहुल होंगे महागठबंधन का चेहरा
By Deshwani | Publish Date: 22/7/2018 3:58:07 PM
मिशन 2019: कांग्रेस ने बनाई 300 सीटों की रणनीति, राहुल होंगे महागठबंधन का चेहरा

 नई दिल्ली। कांग्रेस की नवगठित सर्वोच्च नीति निर्धारक संस्था ने आगामी लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाई। कांग्रेस ने बैठक में कहा कि केन्द्र में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को पराजित करने के लिए व्यापक संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) -3 अपरिहार्य है। साथ ही कांग्रेस ने वर्किंग कमेटी (CWC) की अहम बैठक में लोकसभा-2019 के लिए 300 सीटों पर जीत की रणनीति बनाई है लेकिन यह सुनिश्चित करना होगा कि गठबंधन में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरे और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ही उसके नेता रहें। यानि कि गठबंधन का चेहरा राहुल होंगे। राहुल की अध्यक्षता में संसदीय सौध में आज हुई बैठक में करीब दो घंटे तक आगामी लोकसभा चुनाव की रणनीति पर गहन विचार-विमर्श किया गया।

 
केरल को लेकर सवाल पूछे जाने पर बताया कि बैठक में सभी ने माना कि 2019 में एक व्यापक गठबंधन आवश्यक एवं अपरिहार्य होगा क्योंकि इसके बिना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली राजग सरकार को सत्ता से बेदखल करना मुश्किल होगा।  पी चिदंबरम ने गठबंधन की अपरिहार्यता को लेकर ये विचार रखे जिसका पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अनुमोदन किया।
 
कांग्रेस नेताओं ने गठबंधन के बारे में कहा कि यह इस प्रकार से किया जाना चाहिए कि कांग्रेस अधिक से अधिक सीटें जीत कर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरे और कांग्रेस अध्यक्ष गांधी ही गठबंधन का प्रमुख चेहरा हों। चिदंबरम ने इसके लिए विभिन्न क्षेत्रीय दलों से बातचीत करके गठबंधन को तैयार करने का काम जल्द से जल्द शुरू करने पर भी बल दिया।
 
समसामयिक राजनीति एवं कांग्रेस के समक्ष चुनौतियों और देशभर में पार्टी का संगठन को मजबूत करने तथा विपक्षी दलों को मजबूत नेतृत्व देने के बारे में चर्चा हुई।
 
पार्टी के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी के 2020 तक के रोडमैप, किसानों, बेरोजगारों, दलितों आदिवासियों के मुद्दों के साथ साथ देश की आंतरिक एवं बाह्य सुरक्षा को लेकर भी विचार विमर्श होगा।  
 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS