ब्रेकिंग न्यूज़
एलओसी के पास राजौरी में धमाका, सेना का एक अफसर शहीदपुलवामा आतंकी हमला: सहवाग का बड़ा ऐलान, कहा- शहीदों के बच्चों की पढ़ाई खर्च उठाने को तैयारपुलवामा कांड: महानायक अमिताभ ने चुप्पी तोड़ी, शहीदों को आर्थिक मदद करने का किया एलानपुलवामा हमला: राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक संपन्न, 3 सूत्रीय प्रस्ताव पासकोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर रोक की अवधि दो मार्च तक बढ़ाईरांची पहुंचा शहीद विजय का पार्थिव शरीर, शहीद की पत्नी और बेटे ने कहा- लेना चाहते हैं शहादत का बदलामध्य प्रदेश: शहीद अश्विनी का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा, अंतिम विदाई देने के लिए हजारों लोग जुटेशहीद संजय कुमार को अंतिम विदाई देने जुटे लाखों लोग, लोगों ने बरसाये फूल
पटना
राज्यपाल ने की अपराध और जीरो टॉलरेन्स पर मुख्यमंत्री नीतीश की सराहना, कहा- मेरे बयान की सही तरीके से हो व्याख्या
By Deshwani | Publish Date: 17/6/2018 7:33:53 PM
राज्यपाल ने की अपराध और जीरो टॉलरेन्स पर  मुख्यमंत्री नीतीश की सराहना, कहा- मेरे बयान की सही तरीके से हो व्याख्या

 पटना। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को अपराध और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर मुख्यमंत्री द्वारा अपनायी जा रही जीरो टॉलरेंस नीति की सराहना की। साथ ही पिछले दिनों एक कार्यक्रम में दिये गये अपने वक्तव्य पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि मेरे बयान की सही तरीके से व्याख्या हो। पिछले चार-पांच दिनों में मेरे बयान का काफी दुरुपयोग हुआ। मेरा इरादा पैरेलल पुलिस हेडक्वार्टर खोलने का नहीं था। मालूम हो कि पिछले दिनों पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ द्वारा श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित छात्र संवाद कार्यक्रम में उन्होंने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा था कि आपके साथ यदि कहीं ज्यादती हो और सुनवाई न हो रही हो, तो आप राजभवन फोन कर सकती हैं। उक्त बातें राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को पटना स्थित ज्ञान भवन में आयोजित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी के सातवें दीक्षांत समारोह में कहीं।

 
उन्होंने कहा कि हमारे पास सरकार है, जिसके मुखिया नीतीश कुमार हैं। मुझे इस बात की खुशी है कि हमारे मुख्यमंत्री ऐसे हैं, जो अपराध और भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेन्स की नीति रखते हैं। उन्होंने कानून-व्यवस्था को सुधारा है। मैं पटना पुलिस का भी प्रशंसक हूं। अपना स्पष्टीकरण देते हुए उन्होंने कहा कि चीन में एक कहावत है, जब लोग चांद की तरफ ऊंगली उठा कर कहते हैं, वो देखो चांद, तो कुछ लोग चांद नहीं देखते हैं, ऊंगली को देखते हैं. हमारे वक्तव्य के मामले में भी ऐसा ही हुआ और लोगों ने ऊंगली देखी, चांद को नहीं देखा. मैं उस बात को आप सभी के माध्यम से स्पष्ट करना चाहता हूं।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS