बिहार
तेजस्वी को मौका मिला तो 28 वर्ष की उम्र में अकूत बेनामी संपत्ति के मालिक बन गये : सुशील मोदी
By Deshwani | Publish Date: 17/2/2018 8:16:43 PM
तेजस्वी को मौका मिला तो 28 वर्ष की उम्र में अकूत बेनामी संपत्ति के मालिक बन गये : सुशील मोदी

 पटना । जननायक कर्पूरी ठाकुर की पुण्यतिथि पर कर्पूरी ठाकुर फाउंडेशन के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री डा. भीम सिंह की ओर से बीआईए के सभागार में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 50 वर्षों तक राजनीति में सक्रिय रहने वाले कर्पूरी ठाकुर की जब मृत्यु हुई तो उनके पास एक पक्का मकान और कोई बैंक बैलेंस नहीं था, मगर उनके नाम की दुहाई देने वाले ऐसे लोग भी हैं जिन्हें मौका मिला तो 28 वर्ष की उम्र में 30 से ज्यादा बेनामी संपत्ति के मालिक बन गये।

 
भारत प्रक्षेत्र राष्ट्रमंडल संसदीय संघ के सम्मेलन में राजद के हंगामा करने पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोप में देश के चार-चार मुख्यमंत्रियों के जेल जाने से संबंधित उनके बयान पर राजद का भड़कना ‘चोर की दाढ़ी में तिनके’ की कहावत को चरितार्थ करता है. राजद को बताना चाहिए कि क्या उनके नेता आंदोलन और सत्याग्रह करके जेल गये हैं या चारा घोटाले जैसे भ्रष्टाचार के आरोप में तीन-तीन कोर्ट से सजा मिलने के बाद जेल में बंद है? 
 
राजद के आरोप के जवाब में उन्होंने कहा कि बिहार को बदनाम और कलंकित तो उन लोगों ने किया जिन्होंने बिहार का खजाना लूटा और 15 साल तक बिहार को अंधेरे में धकेलने का पाप किया। एक दागी और सजायफ्ता के समर्थन में हंगामा कर राजद ने बिहार की छवि को एक बार फिर राष्ट्रमंडल संसदीय संघ के सम्मेलन जैसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर धूमिल किया है। बिहार को शर्मसार करने वालों को यहां की जनता कभी माफ नहीं करेगी। 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS