ब्रेकिंग न्यूज़
दुष्कर्म के दोषी आसाराम को अभी भी उनके अंधभक्त मान रहे पाक साफ, कर रहे हवनदुल्हन ने शादी मंडप में शादी करने से किया इनकार, दूल्हे की दिमागी हालत खराबबिहार सरकार जल्द करें गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान : हाइकोर्टनाबालिग से बलात्कार के मामले आसाराम को उम्रकैद, बाकी दोषियों को 20-20 साल की सजाकुत्तों-बंदरों से परेशान हुआ एम्स के डॉक्टर और मरीज, मेनका गांधी को लिखा पत्रमोदी-माल्या पर शिकंजा कसेगी ईडी, संपत्ति कुर्क करने के लिए नए अध्यादेश की तैयारीकर्नाटक चुनाव: जदयू ने जारी की दूसरी लिस्ट, 12 उम्मीदवारों के नामों की घोषणाभारत और चीन के बीच मतभेद विवादों में नहीं बदलना चाहिए : रक्षामंत्री
राष्ट्रीय
राहुल पहले प्रायश्चित करें, तब धार्मिक कार्यों में सहभागी हों : मनोज तिवारी
By Deshwani | Publish Date: 13/12/2017 4:35:27 PM
राहुल पहले प्रायश्चित करें, तब धार्मिक कार्यों में सहभागी हों : मनोज तिवारी

नई दिल्ली, (हि.स.)। दिल्ली प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष व सांसद मनोज तिवारी ने आज कांग्रेस व उसके अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रायश्चित करने की सलाह दी है। वैज्ञानिक तौर पर रामसेतु के मानव निर्मित होने का प्रमाण सामने आने के बाद मनोज तिवारी ने कहा कि सोनिया-राहुल के नेतृत्व वाली कांग्रेस की सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय तक में हलफनामा देकर श्रीराम को ही कल्पना मात्र बताया था। राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि वे चुनावों के दिनों में मंदिर-मंदिर जाते हैं पर राम को सत्य नहीं, कपोल कल्पित मानते हैं। वे राम जन्मभूमि पर मंदिर के बारे में कुछ नहीं कहते। उनकी पार्टी के शीर्ष नेता सर्वोच्च न्यायालय में खड़े होकर राम मंदिर का मामला लटकाए रखने की दलीलें पेश करते हैं। 

हिन्दुस्थान समाचार से विशेष बातचीत में कांग्रेस के नव निर्वाचित अध्यक्ष के गुजरात चुनावों के दौरान जनेऊधारी, रूद्राक्षधारी और पंडित राहुल गांधी बनकर मंदिर जाने को मनोज तिवारी ने ढकोसला बताते हुए एक कविता पढ़ी- ‘..20 बरस तुम मंदिर जाओ, 30 बरस तुम जाप करो, पाप किए हैं तुमने अनगिन, कुछ वर्षों पश्चाताप करो।’ 

मनोज तिवारी ने कहा कि भारतीय समाज और भारतीय जनता पार्टी को राम जन्मभूमि और रामसेतु को लेकर कभी संशय नहीं रहा है। हम हमेशा से कहते आए हैं कि अयोध्या में वही राम जन्मभूमि है जहां रामलला विराजमान हैं और रामेश्वरम् के पास वही रामसेतु है जिसे लंका कांड के दौरान नल-नील ने बनवाया। अब इस बात के प्रमाण नासा से लेकर वैज्ञानिकों तक ने उन पत्थरों की आयु 7 हजार साल पहले की बताकर दे दिया है। यह कांग्रेस और उसके नेतृत्व के मुंह पर करारा तमाचा है। कांग्रेस की सरकार सेतु समुद्रम परियोजना के नाम पर रामसेतु को तोड़ने पर आमादा थी। उसके लिए क्रेनें लगाईं थी। पर रामजी की कृपा से वे क्रेनें ही टूट गईं। मनोज तिवारी ने कहा कि रामसेतु हमारी ऐतिहासिक धरोहर है। इसे राष्ट्रीय धरोहर घोषित किए जाने की आवश्यकता है।

अन्ना हजारे की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर की गई टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि एक गुरू की अपने कथित शिष्य के प्रति इससे ज्यादा कठोर टिप्पणी और कोई नहीं हो सकती। श्री तिवारी ने कहा कि कुछ दिनों पूर्व एक विमान यात्रा से पहले उनकी एयरपोर्ट पर अन्ना हजारे से मुलाकात हुई थी। तब जो बात हुई उसमें भी अन्ना की यह पीड़ा साफ झलक रही थी। वे खुद को ठगा गया-सा महसूस कर रहे थे। इसीलिए उन्होंने सार्वजनिक मंच से कहा कि अब उनके मंच से कोई अरविन्द केजरीवाल नहीं पैदा होने दिया जाएगा। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS