ब्रेकिंग न्यूज़
समस्तीपुर : मिथिलांचल को मिला तोहफा, जयनगर से भागलपुर तक जायगी स्पेशल ट्रेनमहिन्द्र फर्स्ट च्वाइस के मालिक मोतिहारी के पीपराकोठी में अपने ही स्कॉर्पियो में गोली लगने से घायल मिले, हुई मौतइसबार मोतिहारी की पुलिस रही मुस्तैद तो लूट नहीं सके सवा लाख रुपए, आर्म्स के साथ दबोचे गए तीनइंटरसिटी और लोकल ट्रेन का संचालन नहीं होने से यात्रियों को हो रही काफी परेशानी, रामगढ़वा में भाजपा सांसद का पुतला दहन कर स्थानीय ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शनकेंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कर्नाटक के बेंगलुरु में तीन अलग-अलग प्रकल्पों का लोकार्पण कियाभारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिग्गज अभिनेता और निर्देशक बिस्वजीत चटर्जी को 51वें भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार से किया गया सम्मानितभारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रक्सौल के दो केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन अभियान हुआ प्रारंभरक्सौल: सिमुलतला विद्यालय में ईशान ने मारी बाजी
बिहार
पटना: कोटेक महिंद्रा बैंक फर्जीवाड़े का मामला पहुंचा एसएसपी के पास, तथाकथित आरोपी के भाई ने लगाया जालसाजी का आरोप
By Deshwani | Publish Date: 12/1/2021 8:51:49 PM
पटना: कोटेक महिंद्रा बैंक फर्जीवाड़े का मामला पहुंचा एसएसपी के पास, तथाकथित आरोपी के भाई ने लगाया जालसाजी का आरोप

पटना एग्‍जीवीशन रोड स्थित कोटक महिंद्रा बैंक फर्जीवाड़े का मामला अब पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा के पास पहुंच गया है। इस मामले में कथित आरोपी बनाये गए कोटेक महिंद्रा, बोरिंग रोड के शाखा प्रबंधक सुमित कुमार के भाई संतोष कुमार ने एसएसपी से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा और न्‍याय की गुहार लगाई।  संतोष कुमार ने बताया कि उनका भाई निर्दोष है और इस वक्‍त अस्‍पताल में भर्ती है।

 
 
 
 
संतोष कुमार ने ज्ञापन के जरिये कहा कि मेरे भाई सुमित कुमार के द्वारा किसी भी तरीके का रकम फर्जी तरीके से हस्‍तांतरण नहीं करने के बावजूद भी कोटेक महिंद्रा के वरीय पदाधिकारियों ने स्‍वयं को और अपने चहेते कर्मियों को बचाने के लिए उन्‍हें फंसाने का प्रयास किया। जबकि सच्‍चाई इसके विपरीत है। दरअसल कोटेक महिंद्र बैंक के एग्‍जीवीशन रोड शाखा में जो फर्जीवाड़ा हुआ है, उसका मुख्‍य सरगना कथित बैंक के शाखा प्रबंधक अभिषेक राजा और क्षेत्रीय प्रबंधक राजकिशोर सिंह हैं, जिन्‍होंने 02 जनवरी 2021 को फर्जी RTGS फॉर्म मामले में फर्जीवाड़ा को अंजाम दिया। जबकि मेरा भाई बोरिंग रोड शाखा में है और उस दिन वहां भी मौजूद नहीं है।
 
 
 
 
ज्ञापन में संतोष कुमार ने पूरे घटनाक्रम से एसएसपी को वाकिफ करवाया और मामले की निश्‍पक्ष जांच के साथ अविलंब प्राथमिकी दर्ज कराकर कथित दोषियों की जालसाजी का पर्दाफाश करने के साथ अपने निर्दोष भाई को पूछताछ के बाद हिरसात से छोड़ने का आग्रह किया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS