ब्रेकिंग न्यूज़
प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर देश को किया संबोधित, कहा- आज के युवा की सबसे बड़ी ताकत उसकी स्किल ही हैभारतीय रेल ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बनाये विशेष किस्म के रेल डिब्बे, डिब्बों में किए गए ये बदलावइनकम टक्स ऑफिसर बन महिला के घर से 50 लाख का सोना लूटने का आरोपी मोतिहारी के मिस्कॉट से गिरफ्तार, ले गई बंगाल की पुलिसमोतिहारी डीएम के खाते से फर्जीवाड़ा गिरोह ने पटना से बैंक ऑफ इंडिया शाखा से एक लाख रुपए ट्रांस्फर की कोशिश की, गांधी मैदान व मोतिहारी थाने में एफआईआररक्सौल: ट्रेन से कटकर एक वृद्ध महिला की मौतऐश्वर्या और अराध्या भी निकलीं कोरोना पॉजिटिव, अमिताभ का बंगला जलसा कंटेनमेंट जोन घोषितअभिनेता अनुपम खेर की मां, भाई समेत परिवार के चार सदस्य कोरोना पॉजिटिवमोतिहारी-बेतिया सहित उत्तर बिहार के तराई इलाके में भारी बारिश व बज्रपात की चेतावनी
बिहार
लॉकडाउन की अ‍वधि में निजी क्षेत्रों में बेरोजगार हुए लोगों को मिले बेरोजगारी भत्ता : विकासशील छात्र मोर्चा
By Deshwani | Publish Date: 26/6/2020 9:46:11 PM
लॉकडाउन की अ‍वधि में निजी क्षेत्रों में बेरोजगार हुए लोगों को मिले बेरोजगारी भत्ता : विकासशील छात्र मोर्चा

पटना कॉलेज ऑफ कॉमर्स छात्रसंघ अध्‍यक्ष सह विकासशील छात्र मोर्चा के छात्र नेता ने राज्‍य और केंद्र सरकार से उन तमाम लोगों के लिए बेरोजगारी भत्ता की मांग की है, जो पिछले चार महीने में बेरोजगार हुए हैं। उनके पास आय का कोई साधन नहीं हैं। पटना में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्‍होंने कहा कि निजी क्षेत्र में – प्राइवेट कोचिंग के शिक्षक, प्राइवेट संस्‍थानों में काम करने वाले लोग व अन्‍य क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों पर सरकार ध्‍यान दे और उन्‍हें तत्‍काल भत्ता दे। इसके लिए विकासशील छात्र मोर्चा और विकासशील इंसान पार्टी सरकार को 2 जुलाई तक का अल्‍टीमेटम देती है। अगर सरकार ने 2 जुलाई तक बेरोजगारी भत्ता नहीं दिया तो हम लोग सड़क पर उतरने को मजबूर होंगे।

 
 
 
 
विकास ने कहा कि विकासशील इंसान पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष श्री मुकेस सहनी के आदेशानुसार, हम पटना ही नहीं पूरे बिहार के कामगारों के लिए बेरोजगारी भत्ते की मांग करते हैं। उन्‍होंने कहा कि एक ओर प्रधानमंत्री आत्‍मनिर्भर होने की बात करते हैं और दूसरी ओर लॉकडाउन के वक्‍त में लोगों को चार महीने से वेतन नहीं मिल रहे। ऐसे लोगों के सामने भूखमरी की स्थिति हो गई। हम ऐसे लोगों के साथ मजबूती से खड़े हैं।
 
 
 
 
विकास बॉक्सर ने कहा कि आज हालत ऐसी स्थिति में है की शिक्षण संस्थानों में काम करने वाले गरीब मजदूरों और कोचिंग संस्थान चला के अपना जीवन यापन करने वाले लोग भूखे पेट सो रहे हैं। इसलिए सरकार से आग्रह करता हूं कि वह अपनी राजनीति इस समय बंद करके इस समस्या का समाधान निकालें। जिस प्रकार मंदिर, मस्जिद एवं गुरुद्वारों को सोशाल डिस्टेंस मेंटेन का ख्याल रख कर खोलने का आदेश दिया गया है, उसी प्रकार छोटे कोचिंग और शिक्षण संस्थान को भी सोशल डिस्टेंस का ख्याल रख कर  खोलने का आदेश दिया जाए  जिससे कि उन लोगों का भी परिवार चल सके।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS