ब्रेकिंग न्यूज़
शहीद सैन्य पदाधिकारी व सैनिकों की वीर नारियों के सम्मान समारोह बिहार के राज्यपाल ने किए 92 वीर नारियों को सम्मानितनेपाल के मकवानपुर में चार बच्चों समेत आठ भारतीय पर्यटकों की मौतभाजपा नेता रवि किशन ने शाहीनबाग़ के विरोध को बताया विपक्ष की साजिश, कहा - 500 रुपये लेकर महिलाएं कर रहीं प्रदर्शनपरीक्षा में अच्‍छे अंक ही सबकुछ नहीं - मोदी, परीक्षा पे चर्चा-2020 कार्यक्रम में देश भर के दो हजार से अधिक विद्यार्थी ले रहे भागजम्‍मू कश्‍मीर के शोपियां जिले में 3 आतंकवादी ढेर, सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ जारीतहकीकात बाद दें किराया, मोतिहारी के अंबिकानगर लॉज से पटना से अपहृत छात्र मुक्त, प्रिंस पाण्डेय समेत 5 गिरफ्तारमोतिहारी की सांस्कृतिक भूमि को उर्वरा बनानेवाले पूर्व वीसी डॉ वीरेन्द्रनाथ पाण्डेय का पटना में निधनकेन्द्र सरकार के गृह राज्यंत्री, बिहार के भाजपा अध्यक्ष व विधायक साथ रक्सौल में 47 वी बटालियन आउट पोस्ट का जायजा लिया
राष्ट्रीय
फीस में वृद्धि जैसे मुख्य मामले सुलझ जाने के बाद भी जेएनयू के छात्रों को निरंतर आंदोलन जारी रखना उचित नहीं: रमेश पोखरियाल निशंक
By Deshwani | Publish Date: 14/1/2020 12:07:45 PM
फीस में वृद्धि जैसे मुख्य मामले सुलझ जाने के बाद भी जेएनयू के छात्रों को निरंतर आंदोलन जारी रखना उचित नहीं: रमेश पोखरियाल निशंक

नई दिल्ली मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय-जेएनयू के छात्रों को निरंतर आंदोलन जारी रखने का कोई औचित्य नहीं है। उनकी फीस वृद्धि जैसे मुख्य मामले सुलझा लिए गए हैं। कई बार की बातचीत के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने बयान जारी कर कहा है कि छात्रों के सेवा और उपयोग शुल्क देने को नहीं कहा जा रहा है। 

 
 
यह छात्रों की मुख्य मांग थी। शीतकालीन सेमेस्टर के लिए पांच हजार से अधिक छात्रों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। मंत्रालय ने विश्वविद्यालय में बातचीत के माध्यम से शैक्षणिक माहौल बहाल करने और विवादास्पद मुद्दों पर प्रशासन को सलाह देने के लिए उच्च अधिकार प्राप्त समिति का गठन किया है। मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा है कि विश्वविद्यालयों को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनने दिया जाएगा और छात्रों से आंदोलन वापस लेने के लिए अपील की जानी चाहिए।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS