ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार कैबिनेट का फैसला : लड़कियों को जन्म से लेकर स्नातक तक मिलेगा समुचित लाभ व सुरक्षाशत्रुघ्‍न सिन्‍हा का सवाल, 'सर, नोटबंदी के 18 माह बाद भी एटीएम में पैसा नहीं है, यह क्‍या हो रहा है'पंजाब ने हैदराबाद के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लियासुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस ने बुलाई विपक्ष की बैठकराज्यों के नाम मेनका का खत, रेप जैसी घटनाओं को रोकने के लिए दिए सुझावसीतामढ़ी रीगा चीनी मिल के मालिकों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंटप्रिंटिंग प्रेस में 24 घंटे चल रही नोटों की छपाई, कैश की समस्या होगी खत्मयूएस पहुंची कठुआ-उन्नाव रेप कांड मामला: भारतीय-अमरीकियों ने किया प्रदर्शन
झारखंड
मोमेंटम झारखंड की वास्तविक छवि उभरकर सामने आयी : नीरा यादव
By Deshwani | Publish Date: 12/1/2018 8:48:27 PM
मोमेंटम झारखंड की वास्तविक छवि उभरकर सामने आयी : नीरा यादव

रांची, (हि.स.)। शिक्षा मंत्री डॉ नीरा यादव ने कहा कि युवा दिवस के अवसर पर 25 हजार से ज्यादा युवाओं को नौकान कर मोमेंटम झारखण्ड की वास्तविक छवि उभर कर सामने आई है। राज्य सरकार का संकल्प है कि प्रत्येक वर्ष एक लाख युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ा जाये। स्किल्ड यूनिवर्सिटी निर्माण के लिए सरकार कार्य कर रही है। नीरा यादव राष्ट्रीय युवा दिवस पर खेलगांव में आयोजित स्किल समिट में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि युवा दिगभ्रमित ना हों। स्वामी विवेकानंद जी ने कहा था कि देश के बच्चों को ऐसी शिक्षा मिले, जिससे उनका सर्वांगीण विकास हो सके, वे आत्मनिर्भर बन सकें, चरित्र का निर्माण और समाज सेवा के भावना उनमें भरी हो। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी गरीबी को चुनौती के रूप में लेकर इसके खिलाफ युद्ध छेडने की बात कही है। प्रधानमंत्री ने कौशल युक्त मानव संसाधन पर जोर दिया है। जहां कौशल और गति को प्रमुखता दी गई। राज्य सरकार ने भी प्रधानमंत्री की बातों को आत्मशात करते हुए कौशल विकास के लिए 49 चयनित एजेंसियों, 263 केंद्रों, 22 सेक्टर और 90 ट्रेड के माध्यम से युवाओं का कौशल विकास कर रही है। उन्होंने बताया कि फरवरी 2017 में आयोजित मोमेंटम झारखण्ड के बाद पूरा देश झारखण्ड की ओर आशाभरी निगाहों से देख रहा है। 

इस अवसर पर मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी ने कहा था कि निरंतर चलते रहना है। झारखण्ड सरकार भी स्वामी जी की उन बातों को आत्मसात करते हुए कार्य कर रही है, ताकि राज्य के युवाओं का सशक्तिकरण हो। यहां के सवा तीन करोड़ जनता का समग्र विकास और समृधि सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि झारखण्ड युवा राज्य है। राज्य के युवाओं के पास ऊर्जा, साहस, सपने और आकांक्षाएं हैं। ये ही राज्य की शक्ति हैं, जिसपर हमें गर्व है। युवाओं को सपने देखने दो, लक्ष्य ऊंचा रखने दो, जिसके जरिये वे सफलता की ऊंची उड़ान भर सकें। युवाओं के इस उड़ान को और ऊर्जा प्रदान करने के उद्देश्य से स्किल समिट 2018 का आयोजन किया गया। वर्मा ने कहा कि राज्य के युवाओं के सपने को धरातल पर उतारने और उनकी आकांक्षाओं को मूर्तरूप देने के लिये झारखण्ड सरकार कृतसंकल्पित है। दूरगामी सोच और कार्ययोजना के साथ राज्य के बच्चों के सपनों को साकार करने में सरकार जुटी है, ताकि आर्थिक व सामाजिक विकास में युवाओं का हाथ मजबूती से हो सके। युवाओं को बेहतर कौशल विकास के तहत प्रशिक्षण प्राप्त हो इसके लिए सरकार ने 700 करोड़ रुपये का उपबंध किया है। मेगा स्किल डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना की गई है। गुणवत्ता युक्त प्रशिक्षण के लिये सिंगापुर कंपनी के साथ राज्य सरकार ने एमओयू कर गुणवत्ता पूर्ण प्रशिक्षण सुनिश्चित किया है। व्यपार में सुगमता और श्रम सुधार मामले में राज्य आगे है। इस अवसर पर उच्च तकनीकि शिक्षा विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह, सुनील वर्णवाल, संजय कुमार, विनय कुमार चौबे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS