ब्रेकिंग न्यूज़
क्राइम ब्रांच के सामने आज पेश नहीं हुए दाती महाराज, मिला और 2 दिन का समयबालू के बिहार से बाहर जाने पर पूर्णत: रोक लगेगी : सुशील मोदीबोकारो में भारी मात्रा में नकली शराब व होलोग्राम बरामदमुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिया सुरक्षा का आश्वासन, आइएएस अधिकारी चर्चा के लिए तैयारआर्मी चीफ रावत शहीद औरंगजेब के परिवार से मिले, पिता बोले-बेटे की मौत का चाहिए बदलासबसे कम उम्र के लॉयंस क्लब ऑफ कोलकाता के अध्यक्ष बने ललपनिया के आनंद तिवारीभागलपुर में शरारती तत्वों ने न्यायिक अधिकारियों के चैंबर को बनाया निशाना, रिकॉर्ड जलायामेडिकल कॉलेज दाखिला मामला: सुप्रीम कोर्ट ने लगाई बिहार सरकार को फटकार
झारखंड
विकास के लिए साक्षरता जरूरी है : उपराष्ट्रपति
By Deshwani | Publish Date: 8/9/2017 7:07:29 PM
विकास के लिए साक्षरता जरूरी है : उपराष्ट्रपति

रांची। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू अपने दो दिन की झारखंड यात्रा पर शुक्रवार को रांची पहुंचे. बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर प्रदेश की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास, मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने फूलों का गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया। दो दिन के अपने झारखंड दौरे के दौरान श्री नायडू कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे. शुक्रवार की शाम 4 बजे श्री नायडू धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में एक कार्यक्रम में शामिल हुए। 

 मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू का स्वागत करते हुए कहा - 2011 की जनगणना के अनुसार जो आँकड़े सामने हैं वे बताते हैं कि यह कितनी बड़ी चुनौती है. खासकर महिलाओं को शिक्षित करना बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा कि हमारी गवर्नर लड़कियों को प्रोत्साहित करती हैं। मेरे सहयोगी मंत्री प्रयास कर रहे हैं। पिछले तीन वर्षों में हमने दो लाख से ज्यादा लोगों को शिक्षित किया है। यह काम हंसते खेलते हो सकता है. हमारे देश में केरल एक उदाहरण है जहां सभी शिक्षत हैं। लम लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं। सरस्वती जी की पूजा करते हैं लेकिन गरीबी और अशिक्षा खत्म नहीं हो रही। हमारे पीएम ने न्यू इंडिया या नारा दिया।
 
कार्यक्रम में राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने कहा कि आप सभी के मार्गदर्शन से लोग प्रेरित होंगे। सरकार कई योजनाएं चला रही है। शिक्षत होने या मतलब सिर्फ पढ़ना लिखना नहीं समाजिक रूप से भी शिक्षा जरूरी है. महिलाओं की शिक्षा का  मतलब पूरे घर की शिक्षा है। पंचायत भी इस दिशा में  बढ़कर हिस्सा ले और काम करे। महिलाओं की  अशिक्षित होना बड़ी चुनौती है। आज जो सम्मानित किये जा रहे हैं उनका दायित्व भी बड़ा है।
 
वेंकैया नायडू ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे खुशी है कि ऐसे मौके पर मैं यहां हूं। विकास के लिए साक्षरता अनिवार्य है। इतनी संख्या में  लोग आये। यह अभियान स्वाभीमान के लिए है। मैं मुख्यमंत्री का शुक्रगुजार हूं कि इतना अच्छा कार्यक्रम रखा. ऐसे लोगों को सम्मानित किया जो काम कर रहे हैं. ऐसे लोगों को देखकर समाज प्रभावित होता है। कई माताओं ने बढ़ती उम्र में भी पढ़ाई का रुख किया। प्रधानमंत्री परिवर्तन पर जोर दे रहे हैं यही सकारात्मक परिवर्तन है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS