ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के मधुबन में भारत माइक्रो फाइनेंस की शाखा से लूट के 80 हजार रुपए व मैनेजर की मोबाइल मिला, एक गिरफ्तार, चार अन्य लूटेरों के नाम का पता चलामोतिहारी के पंचमंदिर शहनाई विवाह भवन में समारोह के दौरान मारपीट की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम पर हमला, नगर इंस्पेक्टर सहित कई घायल, पड़ोसी गिरफ्तार35वें बॉक्‍सम अंतर्राष्‍ट्रीय मुक्‍केबाजी टूर्नामेंट में भारत की मुक्‍केबाज पूजा रानी सेमीफाइनल मेंसरकार ने कोविड टीकाकरण अभियान में तेजी लाने को समय सीमा हटाया, 24 घंटे टीकाकरण की दी अनुमतिप्रधानमंत्री को सेरावीक 2021 में 5 मार्च को मिलेगा सेरावीक वैश्विक ऊर्जा एवं पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कारजम्मू-कश्मीर: पुलवामा में पुलिस ने आतंकवादियों के ठिकाने का किया भंडाफोड़समस्तीपुर: एसबीआई शाखा से दिन दहाड़े छह लाख की लूटभारत और इंग्लैंड के बीच चौथा और आखिरी टेस्ट कल से अहमदाबाद में होगा शुरू
अंतरराष्ट्रीय
अगले साल होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किया आमंत्रित
By Deshwani | Publish Date: 17/12/2020 8:35:15 PM
अगले साल होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किया आमंत्रित

दिल्ली। ब्रिटेन  के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भारत को अगले वर्ष होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन में शामिल होने का निमंत्रण दिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इस सिलसिले में एक पत्र लिखा है। ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमनिक राब ने कल प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की और उन्हें पत्र सौंपा।





प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने निमंत्रण स्वीकार कर लिया है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर के साथ बैठक के बाद श्री राब ने कहा कि ब्रिटेन की मेजबानी में अगले वर्ष होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री मोदी को निमंत्रित करते हुए उन्हें खुशी हो रही है।उधर, लंदन में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि श्री जॉनसन ने दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत को एक अतिथि राष्ट्र के रूप में सम्मेलन के लिए आमंत्रित करते हुए श्री मोदी को पत्र लिखा है। 





बयान में कहा गया कि समान विचारों वाले लोकतंत्रों के समूह के साथ काम करने की श्री जॉनसन की आकांक्षा के तहत यह कदम उठाया गया है। इसका उद्देश्य साझा हितों को आगे बढ़ाना और समान चुनौतियों से निपटना है। जी-7 के सदस्य देशों में अमरीका, कनाडा, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, इटली और जापान शामिल हैं। इस वर्ष जी-7 का विस्तार भी होने वाला है, जिसमें 10 लोकतांत्रिक देश शामिल होंगे और इसका नाम डी-10 कर दिया जाएगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS