ब्रेकिंग न्यूज़
उड़ीसा में महिलाओं और बच्चों से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए बनाए जाएंगे 45 नई फास्ट ट्रैक अदालतेंअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादववेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीरवेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीरवेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीरअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादवबेतिया में यौन शोषण के उपरान्त शादी के दवाब पर अरमान ने रोबिना को जलायारक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की आतंकवाद को अपनी कार्य नीति का हिस्सा बना लिया पाकिस्तान
अंतरराष्ट्रीय
ब्रिटिश ऑयल टैंकर पर ईरान ने किया कब्जा, 23 क्रू मेंबर में 18 भारतीय भी शामिल
By Deshwani | Publish Date: 20/7/2019 2:47:07 PM
ब्रिटिश ऑयल टैंकर पर ईरान ने किया कब्जा, 23 क्रू मेंबर में 18 भारतीय भी शामिल

तेहरान। खाड़ी में रोज बढ़ रहे तनाव के बीच कभी अमेरिका और ईरान आमने-सामने आ जा रहे हैं तो कभी ईरान और ब्रिटेन के बीच तनाव देखने को मिल रहा है। इस बीच ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने शनिवार को दो टैंकर जब्त किए हैं। यूके का झंडा लगे टैंकर के क्रू में 23 लोग सवार थे, जिनमें कुछ भारतीय भी शामिल हैं। यह जानकारी कार्गों वेसल की कम्पनी स्टेना बुल्क ने दी। 

 
कंपनी ने बताया कि वेसल क्रू के नियंत्रण में नहीं है और उनसे संपर्क भी नहीं हो पा रहा है। इस दौरान कोई हताहत नहीं हुआ है और क्रू के सदस्यों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। क्रू के 23 सदस्य भारत, रूस, फिलीपींस और लाटविया के नागरिक शामिल हैं। ईरान ने शनिवार को ब्रिटिश टैंकर को जब्त किया और अंतरराष्ट्रीय समुद्री नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में स्टेट ऑफ होर्मूस एक और टैंकर को रोका।
 
सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक ईरान ने घोषणा की है कि उन्होंने ब्रिटिश टैंकर स्टेनो इम्परों को जब्त किया है। कुछ घंटों के बाद यूएस के अधिकारी ने बताया कि ईरान ने लिबेरियन झंडा लगे एमवी मस्डार नामक एक और टैंकर को जब्त किया गया है। मस्डार के मैनेजर ने कहा कि क्रू के सभी सदस्य सुरक्षित हैं। वेसल के साथ फिर से संवाद स्थापित किया गया तब पता चला कि हथियार से लैस गार्ड्स वेसल से चले गए हैं।
 
संयुक्त राष्ट्र ने ईरान की निंदा की है और कहा है कि यह कार्रवाई अस्वीकार्य है। यह जरूरी है कि नौचालन की स्वतंत्रता बनी रहे, जिससे जहाज स्वतंत्र रूप से क्षेत्र में घूम सके।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS