ब्रेकिंग न्यूज़
मेहसी के 150 हेक्टेयर लीची बगान में स्टिंगबग के नियंत्रण के लिए डीएम ने 17 लाख रुपए राशि की मांग कृषि विभाग पटना से मांग कीबेतिया- संतघाट स्थित राधिका ज्योति गैस एजेंसी में भीषण अगलगी, 14 डिलीवरी वाहन व 400 गैस सिलेंडर जले, कोई हताहत नहींमोतिहारी के तुरकौलिया में भूमि विवाद में युवक की हत्यामोतिहारी के ढाका थाने के दारोगा की तस्वीर वायरल, युवती को अपनी सर्विस पिस्टल देकर खिंचवाई फोटो, हुए निलंबितथानाध्यक्ष की हत्या के पूर्व मौके से फरार सर्किल इंस्पेक्टर मनीष कुमार सहित सात पुलिसकर्मियों को पूर्णिया प्रक्षेत्र के महानिरीक्षक ने किया निलंबितरक्सौल में अग्निशामक विभाग के कर्मियों को आग बुझाने का दिया गया प्रशिक्षणमधुबनी नरसंहार से आक्रोशित श्री राजपूत करणी सेना ने निकाला आक्रोश यात्राबीरगंज: अर्थ मंत्री से मिल उद्योग वाणिज्य संघ ने व्यावसायिक समस्याओं से कराया अवगत
बिहार
भारत विकास परिषद ने रेलवे कैम्पस में बोतल पाम के 15 एवं कचनार के 10 पौधे लगाये
By Deshwani | Publish Date: 2/3/2021 10:20:09 PM
भारत विकास परिषद ने रेलवे कैम्पस में बोतल पाम के 15 एवं कचनार के 10 पौधे लगाये

रक्सौल। अनिल कुमार। भारत विकास परिषद शाखा रक्सौल के तत्वावधान में रक्सौल रेलवे स्टेशन के बाह्य द्वार के समीप बोतल पाम के पंद्रह पौधे तथा कचनार के दस पौधे लगाये गये। वृक्षारोपण का कार्यक्रम में परिषद के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद सिंह के साथ परिषद के सदस्यगण तथा  स्टेशन अधीक्षक अनिल कुमार सिंह एवं आरपीएफ के संतोष कुमार मिश्र ने संयुक्त रूप से अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हुए संपन्न की। 





इस मौके पर परिषद के अध्यक्ष डॉ. सिंह ने इस बात को रेखांकित किया कि भारत विकास परिषद रक्सौल अपने स्थापना काल से ही पर्यावरण संरक्षण के लिए संकल्पबद्ध है तथा उस दिशा में लगातार कई कार्य कर रही है। रेलवे पार्क को हरा-भरा रखने तथा सौंदर्यीकरण का जिम्मा रेल प्रशासन द्वारा परिषद को मिलने पर पहले ही दिन से परिषद पर्यावरण संरक्षण के लिए संकल्पबद्ध सदस्यों के सहयोग से कार्य कर रही है। 




उन्होंने यह भी कहा कि रेलवे स्टेशन के प्रवेश द्वार के समीप बोतल पाम का पौधरोपण का मुख्य उद्देश्य यह कि इस वृक्ष की गिनती दीर्घायु वाले वृक्षों में शुमार की जाती है तथा ऐसी मान्यता है कि इसकी उम्र 500 साल से 5000 साल तक की होती है। कचनार के 10 पौधे जो लगाये गये हैं वो भी न केवल आने-जाने वाले पर्यटकों को आकर्षित करेंगे बल्कि स्थानीय लोगों के लिए भी मनभावन होगा  श्री सिंह ने यह भी कहा कि जैसा  कहा जाता है कि ''एक पेड़-एक जिंदगी''  इस उक्ति को धरातल प्रदान करने के लिए सबसे अपील है कि प्रति वर्ष हम सब कम से कम एक पौधा अपने शहर में अवश्य लगायें। इससे रक्सौल की न केवल हरियाली व खूबसूरती बढ़ेगी बल्कि वातावरण के साथ हमारा स्वास्थ्य भी उत्तम होगा। इस मौके पर परिषद के द्वारिका सर्राफ, अवधेश सिंह, सचिव उमेश सिकारिया, सुनील कुमार, विजय कुमार साह समेत मीडिया प्रभारी रजनीश प्रियदर्शी आदि उपस्थित थे। इसकी जानकारी परिषद के मीडिया प्रभारी रजनीश प्रियदर्शी ने दी है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS