ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कर्नाटक के बेंगलुरु में तीन अलग-अलग प्रकल्पों का लोकार्पण कियाभारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिग्गज अभिनेता और निर्देशक बिस्वजीत चटर्जी को 51वें भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार से किया गया सम्मानितभारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रक्सौल के दो केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन अभियान हुआ प्रारंभरक्सौल: सिमुलतला विद्यालय में ईशान ने मारी बाजीउत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनावों के लिए भाजपा ने चार उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कीIGIMS से शुरू होगा बिहार में कोरोना टीकाकरण अभियान, सबसे पहला टीका IGIMS के सफाईकर्मी रामबाबू को लगेगाझारखंड: चतरा में 15 लाख के इनामी उग्रवादी मुकेश गंझू ने किया आत्मसमर्पणपूर्वी चम्पारण के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने डंकन अस्पताल में लगाए गए सिटी स्केन सेन्टर का किया उद्घाटन
बिहार
रेलवे के निजीकरण व निगमीकरण के विरोध में रक्सौल स्टेशन परिसर में धरना प्रर्दशन किया गया
By Deshwani | Publish Date: 26/11/2020 10:31:06 PM
रेलवे के निजीकरण व निगमीकरण के विरोध में रक्सौल स्टेशन परिसर में धरना प्रर्दशन किया गया

रक्सौल। अनिल कुमार। ईस्ट सेन्ट्रल रेलवे इम्प्लॉइज यूनियन समस्तीपुर डिवीजन के  द्वारा रेलवे के निजीकरण व निगमीकरण के विरोध में रक्सौल स्टेशन परिसर में धरना प्रर्दशन किया गया। रेलवे विभाग द्वारा एन०पी०एस० , रात्रि ड्यूटी भत्ता के सीलिंग , डी०ए० पर रोक , 55 वर्ष उम्र / 30 वर्ष नौकरी के नाम पर छंटनी हेतु सर्विस रिवीउ करने आदि के विरोध मे इम्प्लाइज युनियन द्वारा विरोध प्रर्दशन किया गया। जिसको लेकर भारत के सभी ट्रेड यूनियन के  आह्वान पर   जारी देशब्यापी आंदोलन के समर्थन में इंडियन रेलवे इम्प्लॉइज फेडरेशन के आह्वान पर ईस्ट सेन्ट्रल रेलवे इम्प्लॉइज यूनियन द्वारा यह  धरना प्रर्दशन किया गया। आन्दोलन के नेतृत्वकर्ता यूनियन के समस्तीपुर मंडल के सचिव रत्नेश वर्मा ने कहा कि रात्री कार्य भत्ता (एन डी ए) की सीलिंग को अबिलम्ब वापस लिया जाय। 







भारत सरकार द्वारा 18 महिने के डी ए पर  रोक को निरस्त कर डी ए.को पुनः चालू किया जाय। रेलवे के नीजीकरण / निगमीकरण नीति पर रोक लगाई जाय। एनपीएस वापस लिया जाय और ओपीएस चालू किया जाय । नई श्रम नीति को वापस लिया जाए।रेलवे बोनस का भुगतान सांतवे वेतन आयोग के अनुसार रिभाइज किया जाए।कैडर रिवीजन , मल्टीस्कीलिंग , सर्विस-रिवीऊ आदि द्वारा छंटनी की प्रक्रिया बंद हो।उपस्थित रेलवे कर्मचारियों में श्री अंगद राम , श्री संजय कुमार , श्री रामनाथ राय , श्री ज्योति कुमार , श्री विवेक कुमार , श्री मिथुन कुमार , श्री रवि कुमार झा , श्री मंगल सिंह , श्री प्रेमसुन्दर यादव , श्री मदन राउत , श्री धीरज कुमार , श्री जगरनाथ महतो ,श्री रामबिलास , श्री महेंद्र कुमार आदि प्रमुख थे ।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS