ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी सेन्ट्रल बैंक रिजनल कार्यालय में भीषण आग, 4 घंटे के मशक्कत के बाद रात 8 बजे आग पर काबूचनपटिया, बेतिया और नौतन विधानसभा क्षेत्र में शांतिपूर्ण मतदान को प्रशासन पूरी तरह तैयार : कुंदन कुमारएनडीए के प्रत्याशी प्रमोद सिन्हा ने कहा:-अशोक सिन्हा के वीरगंज नेपाल स्थित घर से भारी मात्रा मे सोना बरामदगी की घटना से मेरा कोई सरोकार नहींरक्सौल पुलिस ने 36 लाख के चरस के साथ युवक को किया गिरफ्तारभारत-नेपाल सीमा: दशहरा पर्व मे नही खुलेगा बोर्डर, 17 को बोर्डर खुलने का खबर भ्रामकसमय रहते अगर सर्तक नहीं हुए तो आम हो जायेगी स्‍तन कैंसर बीमारी : डॉ वी पी सिंहबीरगंज में नेपाल पुलिस ने एक फ्लैट से लगभग 23 किलोग्राम सोना का बिस्किट सहित सोना का गहना और चाँदी का बर्तन किया बरामदमुकेश सहनी ने जारी की अपने उम्‍मीदवारों की सूची, कहा – प्रचंड बहुमत से बनेगी एनडीए की सरकार
बिहार
किसान बिल के विरोध में सड़क पर उतरे यूनियन डेमोक्रेटिक अलायंस के नेताओं की हुई गिरफ्तारी
By Deshwani | Publish Date: 25/9/2020 9:50:51 PM
किसान बिल के विरोध में सड़क पर उतरे यूनियन डेमोक्रेटिक अलायंस के नेताओं की हुई गिरफ्तारी

पटन: यूनियन डेमोक्रेटिक अलायंस के घटक दल भारतीय सबलोग पार्टी और जनता दल राष्‍ट्रवादी द्वारा आज केंद्र सरकार की किसान विरोधी कानून के खिलाफ पटना के जे.पी.गोलंबर पर जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन का नेतृत्‍व पूर्व सांसद सह भारतीय सबलोग पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अरूण कुमार, पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा, जनता दल राष्‍ट्रवादी के राष्‍ट्रीय संयोजक अशफाक रहमान और पूर्व मंत्री नागमणि ने किया। प्रदर्शन के दौरान उन्‍होंने जमकर एनडीए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की, जिसके बाद उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया।




वहीं, गिरफ्तारी से पहले जनता दल राष्‍ट्रवादी के राष्‍ट्रीय संयोजक अशफाक रहमान ने कहा कि मोदी सरकार के किसान बिल में किसानों से MSP छीन ली जाएगी। उन्हें कांट्रेक्ट फार्मिंग के जरिए खरबपतियों का गुलाम बनने पर मजबूर किया जाएगा। न दाम मिलेगा, न सम्मान। किसान अपने ही खेत पर मजदूर बन जाएगा। भाजपा का कृषि बिल ईस्ट इंडिया कम्पनी राज की याद दिलाता है।



उन्‍होंने कहा कि बिहार सरकार ने पहले ही किसानों से खरीददारी बंद कर उनकी कमर तोड़ दी है। अब मोदी सरकार ने ये बिल बना कर किसानों से उनका हक ही छीन लिया है। अब किसान अपनी मर्जी से खेती भी नहीं कर सकते  हैं। हम ये अन्याय नहीं होने देंगे। इसके लिए अगर जेल भरो आंदोलन करना पड़े तो हम जेल भी जाने को तैयार हैं, लेकिन अपने अन्‍नदाता पर अन्‍याय बर्दाश्‍त नहीं करेंगे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS