ब्रेकिंग न्यूज़
पटना: अपराधियों ने कोर्ट जा रहे मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दीराष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ)ने अपना 16 वां स्थापना दिवस मनायाआपका अपना घर, सपनों का घर, बहुत ही जल्द आपको मिलने वाला है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीमंत्रिमंडल ने भारत और उज्बेकिस्ताान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्तासक्षर करने की मंजूरी दीरेल मंत्रालय ने हावड़ा-कालका मेल का नाम बदलकर "नेताजी एक्सप्रेस" करने की मंजूरी दीपश्चिम बंगाल: जलपाईगुडी के धूपगुडी कस्‍बे में एक सड़क दुर्घटना में 14 लोगों की मौतसमस्तीपुर : मिथिलांचल को मिला तोहफा, जयनगर से भागलपुर तक जायगी स्पेशल ट्रेनमहिन्द्र फर्स्ट च्वाइस के मालिक मोतिहारी के पीपराकोठी में अपने ही स्कॉर्पियो में गोली लगने से घायल मिले, हुई मौत
बिहार
सूरत के कपड़ा मिल में काम करने वाले करीब 63 श्रमिक पहुंचे रक्सौल, सभी हैं नेपाली नागरिक
By Deshwani | Publish Date: 22/5/2020 9:34:04 PM
सूरत के कपड़ा मिल में काम करने वाले करीब 63 श्रमिक पहुंचे रक्सौल, सभी हैं नेपाली नागरिक

रक्सौल अनिल कुमार। गुरूवार की रात करीब 12 बजे गुजरात सूरत के कपड़ा मिल में काम करने वाले करीब 63 की संख्या श्रमिक रक्सौल पहुंचे। ये सभी श्रमिक नेपाली नागरिक थे और लॉकडाउन में फैक्ट्री बंद हो जाने के बाद सूरत से बस भाड़ा करके रक्सौल पहुंचे थे। रक्सौल आने के बाद इन लोगों को पता चला कि सीमा सील है, जिसके बाद जब ये लोग बॉर्डर पर पहुंचे तो वहां एसएसबी ने इन्हे रोक दिया। रात में ही एसएसबी के अधिकारी राज कुमार कुमावत जवानो की सूचना पर बॉर्डर पर पहुंचे। इसके बाद पूरी रात इनको कहीं रखने को लेकर चर्चा होती रही। 

 
 
 
बाद में इस बात का निर्णय हुआ कि इनको रात में स्टेशन पर रखा जाये। जिसके बाद सभी को स्टेशन पर रात में रखा गया। दिन के समय स्वच्छ रक्सौल संगठन के रंजीत सिंह के द्वारा सभी श्रमिको को भोजन कराया गया। प्रभारी एसडीओ मनीष कुमार ने बताया कि दिन के करीब 1 बजे सूरत से आये सभी श्रमिको को रक्सौल के केसीटीसी कॉलेज में संचालित कोरेनटाइन सेंटर पर रख दिया गया है। यहां बता दे कि इन दिनो लगातार भारत के अलग-अलग इलाको में फंसे नेपाली श्रमिको के रक्सौल आने का क्रम लगातार जारी है और गृह मंत्रालय की अनुमति नहीं मिलने के कारण इनके वतन वापसी में काफी परेशानी हो रही है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS