ब्रेकिंग न्यूज़
पटना: अपराधियों ने कोर्ट जा रहे मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दीराष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ)ने अपना 16 वां स्थापना दिवस मनायाआपका अपना घर, सपनों का घर, बहुत ही जल्द आपको मिलने वाला है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीमंत्रिमंडल ने भारत और उज्बेकिस्ताान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्तासक्षर करने की मंजूरी दीरेल मंत्रालय ने हावड़ा-कालका मेल का नाम बदलकर "नेताजी एक्सप्रेस" करने की मंजूरी दीपश्चिम बंगाल: जलपाईगुडी के धूपगुडी कस्‍बे में एक सड़क दुर्घटना में 14 लोगों की मौतसमस्तीपुर : मिथिलांचल को मिला तोहफा, जयनगर से भागलपुर तक जायगी स्पेशल ट्रेनमहिन्द्र फर्स्ट च्वाइस के मालिक मोतिहारी के पीपराकोठी में अपने ही स्कॉर्पियो में गोली लगने से घायल मिले, हुई मौत
बिहार
रक्सौल में सीआरपीएफ जवान पर अपनी ही पत्नी की हत्या का लगा आरोप
By Deshwani | Publish Date: 22/5/2020 9:16:32 PM
रक्सौल में सीआरपीएफ जवान पर अपनी ही पत्नी की हत्या का लगा आरोप

फ़ोटो देश वाणी: अर्चना देवी का बरामद शव।

रक्सौल अनिल कुमार। सीआरपीएफ के एक जवान पर अपनी पत्नी की हत्या का आरोप लगा है। इस मामले में आरोपी जवान के ससुर कोटवा थानाक्षेत्र बड़हरवा गांव निवासी मुनिलाल साह ने रक्सौल थाना में आवेदन देते हुए बताया कि 2014 में उनकी बेटी अर्चना देवी की शादी रक्सौल के कनना निवासी ओमप्रकाश साह के पुत्र शशि रंजन कुमार से हुई थी। शादी के बाद से ही उसका व्यवहार काफी अच्छा नहीं था। इन दिनो शशिरंजन का चक्कर गांव के पास में ही रहने वाली एक दूसरी लड़की के साथ चक्कर चल रहा था। जिसको लेकर साजिश के तहत उनकी बेटी की हत्या कर दी गयी है। मुनिलाल साह ने बताया कि अभी उसकी बेटी के ससुराल वालो ने गला दबा कर उसकी हत्या कर दी है। 

 
 
 
इधर, इस मामले में पुलिस ने त्वरीत कार्रवाई करते हुए आरोपी शशिरंजन को गिरफ‍्तार कर लिया गया है। इस मामले में शशिरंजन के अलावे उसकी मां मीरा देवी, पिता ओमप्रकाश साह व उसके भाई निरंजन कुमार को भी आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने कनना गाँव में पहुंचकर शव को अभिरक्षा में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इसकी पुष्टि करते हुए इंस्पेक्टर अभय कुमार ने बताया कि पीड़ित पक्ष का आरोप है कि गला दबा कर हत्या की गयी है। 
 
 
 
इसका खुलासा पोस्टमार्टम की रिर्पोट आने के बाद होगा। वहीं मुनिलाल साह ने बताया कि कनना गाँव के ग्रामीणों ने उन्हे मौत के बारे में सूचना दी है। दूसरी तरफ शशिरंजन के भाई निरंजन ने बताया कि उसके परिवार के लोगों पर लगा आरोप बिल्कुल गलत है। हमलोग अर्चना की तबियत खराब होने के बाद उसका इलाज करा रहे थे। हत्या मेरे परिवार के द्वारा नहीं की गयी है। उसकी मौत बिमारी के कारण हुई है। पूर्व में भी इन लोगों ने केस किया था, जिसको बाद में सुलह कर लिया गया था।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS