ब्रेकिंग न्यूज़
चीन से कच्चे माल की आपूर्ति में व्यवधान के संबंध में वित्त मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाईजम्मू-कश्मीर में पंचायत उपचुनाव सुरक्षा मुद्दों और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की अनिच्छा के कारण स्थगितअशरफ गनी अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति चुने गएबिहार के गया में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को देखरेख के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कराया गया भर्तीऔरंगाबाद में रफीगंज-शिवगंज पथ पर तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो में मारी टक्कर, दो मासूमों सहित 10 लोगों की मौतनफरत को खत्म करने, संविधान को बचाने, एन आर सी, सी ए ए जैसे काले कानून के खिलाफ भारत के गंगा-जमुनी तहजीब का नमूना है शाहीन बाग: पप्पू यादवधार्मिक कार्यक्रम में जा रहे हजारों भारतीयों को नेपाल ने करोना वायरस की आशंका से गुरुवार की रात्रि रोका, वार्ता के बाद आज मिली एन्ट्रीपुलवामा हमले के शहीदों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि
बिहार
टी.बी. मरीजों के हित में चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने का निदेश
By Deshwani | Publish Date: 21/1/2020 7:47:09 PM
टी.बी. मरीजों के हित में चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने का निदेश

बेतिया अवधेश कुमार शर्मा।  पश्चिम चम्पारण जिला मुख्यालय बेतिया स्थित समहारणालय सभाकक्ष में जिला टी.बी. फोरम की बैठक मङ्गलवार को  सम्पन्न हुई। उपर्युक्त बैठक को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त रवींद्र नाथ प्रसाद सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के निदेश के आलोक में टी.बी. रोग का शत-प्रतिशत उन्मूलन के लिए जिलास्तर पर जिला टी.बी. फोरम का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा टी.बी. उन्मूलन को चलाये जा रहे, विभिन्न कार्यक्रमों का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता है, जिससे टी.बी. से ग्रसित व्यक्ति आसानी से अपना ईलाज करा सके। उन्होंने कहा कि टी.बी. एक गंभीर लोकस्वास्थ्य की समस्या है। देश को टी.बी. मुक्त करने के लिए 2025 तक सरकार कृतसंकल्पित है। उपर्युक्त लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सभी संबंधित पदाधिकारियों, कर्मियों को शत-प्रतिशत योगदान देना होगा। 

 
 
उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा निःशुल्क डाग्नोसिस उपचार एवं निश्चय पोषण योजना के अंतर्गत वित्तीय सहायता एवं अन्य प्रयास किये जा रहे हैं। टी.बी. मरीजों को सरकार की उपलब्ध करायी जा रही सुविधाओं से अवगत कराना होगा। पश्चिम चम्पारण जिला सिविल सर्जन डाॅ अरूण कुमार सिन्हा ने कहा कि कुपोषण, मधुमेह, तम्बाकू उपयोग एवं एचआईभी से ग्रसित मरीजों में टी.बी. रोग होने की संभावना सामान्य से कई गुणा अधिक बढ़ जाती है। इसलिए उपर्युक्त सभी रोगों से ग्रसित व्यक्तियों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए।
 
 
 उन्होंने कहा कि मनुष्य को होने वाली सभी बीमारियों में से यह शत-प्रतिशत ठीक होने वाली बीमारी है। टी.बी. से ग्रसित मरीज को नियमित दवा खिलाने से यह बीमारी शत-प्रतिशत समाप्त हो जाती है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निदेश दिया कि टी.बी. के मरीजों के साथ मधुर व्यवहार किया जाय। इसके साथ ही टी.बी. सेंटर पर बीमारी की जानकारी लेने वाले व्यक्तियों के साथ अच्छा बर्ताव किया जाना चाहिए। मङ्गलवार को हुई इस बैठक में उप विकास आयुक्त, सिविल सर्जन, ओएसडी सहित संबंधित अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS