ब्रेकिंग न्यूज़
केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने केन्‍द्रीय विद्यालय बेतिया और केन्‍द्रीय विद्यालय नम्‍बर 4 कोरबा के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन कियाकेंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात में नवनिर्मित थलतेज–शीलज–राचरडा रेलवे ओवरब्रिज का किया लोकार्पणसमस्तीपुर: दलसिंहसराय में आंटा मिल मालिक की गोली मारकर हत्यारक्सौल शहर के दो अस्पतालों में 80 लोगों को लगा कोविड वैक्सीन का टीकापटना: अपराधियों ने कोर्ट जा रहे मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दीराष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ)ने अपना 16 वां स्थापना दिवस मनायाआपका अपना घर, सपनों का घर, बहुत ही जल्द आपको मिलने वाला है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीमंत्रिमंडल ने भारत और उज्बेकिस्ताान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्तासक्षर करने की मंजूरी दी
राज्य
डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई कोर्ट से झटका , सीबीआई जज बदलने की मांग को लेकर दायर याचिका खारिज
By Deshwani | Publish Date: 10/12/2019 7:55:38 PM
डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई कोर्ट से झटका , सीबीआई जज बदलने की मांग को लेकर दायर याचिका खारिज

पंचकूला। राम रहीम को सीबीआई कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने बचाव पक्ष की याचिका आज खारिज कर दी। यह याचिका सीबीआई जज बदलने की मांग को लेकर लगाई गई थी। मामले की अगली सुनवाई 14 दिसम्बर को होगी। उस दिन मामले में फाइनल बहस शुरू होगी । जल्द ही बड़ा फैसला आ सकता है।



पंचकूला में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर रंजीत सिंह हत्या मामले में मंगलवार को पंचकूला से हरियाणा की विशेष सीबीआई कोर्ट में सुनवाई हुई। मामले के मुख्य आरोपित राम रहीम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश हुए जबकि अन्य सभी आरोपित प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश हुए। पिछली सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष ने गुरमीत राम रहीम के खिलाफ चल रहे रंजीत मर्डर केस में जज बदलने की मांग की थी। एक आरोपित कृष्ण लाल ने याचिका लगाई थी।



साध्वी यौन शोषण और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के दोषी जेल में बंद गुरमीत राम रहीम के एक सहयोगी और आरोपित कृष्ण लाल ने विशेष सीबीआई अदालत में एक याचिका लगाकर मांग की थी कि डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह हत्या मामले में वह सीबीआई के विशेष न्यायाधीश जगदीप सिंह से इस मामले की सुनवाई नहीं करवाना चाहते हैं। पिछली सुनवाई में एक याचिका लगाकर बचाव पक्ष ने कहा था कि गुरमीत राम रहीम के खिलाफ पहले ही दो मामलों में जगदीप सिंह सजा सुना चुके हैं। इसलिए तीसरे मामले में वह किसी और जज से सुनवाई कराना चाहते हैं। इस मामले में सीबीआई ने अपना जवाब दाखिल करते हुए याचिका में जो बातें कही हैं, उन्हें पूरी तरह झूठा करार दिया था और मामले में जानबूझकर देरी करवाने की बात कही थी।



गौरतलब है कि डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह हत्या मामले में पिछले लंबे समय से सुनवाई चल रही है। दोनों पक्षों की ओर से अपनी दलीलें पेश करने के बाद अब फाइनल बहस शुरू होने वाली है, परंतु पिछली सुनवाई में अचानक बचाव पक्ष की ओर से याचिका लगाकर जज बदलने की मांग उठा दी गई थी।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS