ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
बिहार
रक्सौल के सभ्यता नगर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा का समापन
By Deshwani | Publish Date: 21/10/2019 10:45:39 PM
रक्सौल के सभ्यता नगर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा का समापन

रक्सौल।अनिल कुमार। सभ्यता नगर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा का समापन सोमवार को हवन के साथ हो गया। कथा पंडाल में अन्य दिनों से भक्तो की ज्यादा भीड़ थी।कथा प्रारंभ के पूर्व यज्ञ में पूर्णाहुति की आहुतियां यजमानों द्वारा दी गई।  आयोजित इस साप्ताहिक भागवत कथा में आचार्य शैलेश तिवारी ने श्रीमद्भागवत कथा का रसपान करवाया।

अंतिम दिन आचार्य ने भागवत कथा में भाग लेने वाले सभी धर्म प्रेमियों का आभार जताया और कहा कि भागवत कथा का होना, बरसात का होना, श्री कृष्ण, राम नाम के उच्चारण का पाठ होना, यज्ञ-हवन होना ये बड़े ही सुकर्मो से होता है और ऐसे आयोजन कोई खास ही धर्म प्रेमी करवाते हैं और जो लोग ऐसे आयोजनों में भाग लेते है वो बडे़ ही भाग्यशाली होते है। आचार्य ने कहा कि जिन लोगों ने भागवत कथा में रसपान कि उनके सारे पाप खत्म हो गए है और वो आगे से सुख के भागी बन गए है।उन्होंने ये भी कहा कि भक्ति से ही जीवन का कल्याण होता है इस लिए आडंबर के बगैर भगवान की भक्ति करना चाहिए। कथा के अंतिम दिन भगवान श्री कृष्ण कथा सुदामा के मित्र की कथा सुनाते हुए कहा मित्र वही है जो सुख-दुख में काम आए। मित्रता का सच्चा उदाहरण कृष्ण और सुदामा का है। श्रीमद भागवत कथा ज्ञान का भंडार है। इससे सभी समस्याओं का समाधान हो सकता है। यज्ञ आचार्य शैलेश तिवारी ने यजमानों से पूर्णाहुति की आहुति दिलाई।

इस मौके पर कथा के आयोजक विजय कुमार,राजेश कुमार पांडेय,आनंद कुमार,सुजीत कुमार,बासुकीनाथ तिवारी,गिरधारी सिंह,सुरेंद्र प्रसाद केसरी,राकेश कुमार,सुधीर कुमार मिश्रा हरिकिशोर प्रसाद सहित सैकड़ों धर्म प्रेमी मौजूद थे।इस अवसर पर आचार्य शैलेश तिवारी द्वारा आयोजक समिति के सदस्य,प्रबुद्ध जन,एवं पत्रकारों को  सम्मानित  किया गया।।                                                          

 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS