ब्रेकिंग न्यूज़
सिताब दियारा में लगा परिवार नियोजन कैंप, महिलाओं ने अस्थाई साधनों को अपनायाकाबुल में सैनिक ट्रेनिंग सेंटर के बाहर आत्मघाती हमला, 4 जवान घायलमहाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर पवार बोले, बीजेपी-शिवसेना से पूछो सरकार कैसे बनेगीबेतिया में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या2019 का ये आखिरी सत्र है, हम चाहते हैं सभी मुद्दों पर उत्तम संवाद हो: प्रधानमंत्री मोदीशीतकालीन सत्र: साइकिल से संसद भवन पहुंचे सांसद मनोज तिवारी, केजरीवाल सरकार के लिए कही ये बातसंदिग्ध अवस्था में युवक की मौत, पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा वजहINX मीडिया केस: पी. चिदंबरम की जमानत याचिका पर 20 नवम्बर को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
बिहार
रक्सौल के सभ्यता नगर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा का समापन
By Deshwani | Publish Date: 21/10/2019 10:45:39 PM
रक्सौल के सभ्यता नगर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा का समापन

रक्सौल।अनिल कुमार। सभ्यता नगर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा का समापन सोमवार को हवन के साथ हो गया। कथा पंडाल में अन्य दिनों से भक्तो की ज्यादा भीड़ थी।कथा प्रारंभ के पूर्व यज्ञ में पूर्णाहुति की आहुतियां यजमानों द्वारा दी गई।  आयोजित इस साप्ताहिक भागवत कथा में आचार्य शैलेश तिवारी ने श्रीमद्भागवत कथा का रसपान करवाया।

अंतिम दिन आचार्य ने भागवत कथा में भाग लेने वाले सभी धर्म प्रेमियों का आभार जताया और कहा कि भागवत कथा का होना, बरसात का होना, श्री कृष्ण, राम नाम के उच्चारण का पाठ होना, यज्ञ-हवन होना ये बड़े ही सुकर्मो से होता है और ऐसे आयोजन कोई खास ही धर्म प्रेमी करवाते हैं और जो लोग ऐसे आयोजनों में भाग लेते है वो बडे़ ही भाग्यशाली होते है। आचार्य ने कहा कि जिन लोगों ने भागवत कथा में रसपान कि उनके सारे पाप खत्म हो गए है और वो आगे से सुख के भागी बन गए है।उन्होंने ये भी कहा कि भक्ति से ही जीवन का कल्याण होता है इस लिए आडंबर के बगैर भगवान की भक्ति करना चाहिए। कथा के अंतिम दिन भगवान श्री कृष्ण कथा सुदामा के मित्र की कथा सुनाते हुए कहा मित्र वही है जो सुख-दुख में काम आए। मित्रता का सच्चा उदाहरण कृष्ण और सुदामा का है। श्रीमद भागवत कथा ज्ञान का भंडार है। इससे सभी समस्याओं का समाधान हो सकता है। यज्ञ आचार्य शैलेश तिवारी ने यजमानों से पूर्णाहुति की आहुति दिलाई।

इस मौके पर कथा के आयोजक विजय कुमार,राजेश कुमार पांडेय,आनंद कुमार,सुजीत कुमार,बासुकीनाथ तिवारी,गिरधारी सिंह,सुरेंद्र प्रसाद केसरी,राकेश कुमार,सुधीर कुमार मिश्रा हरिकिशोर प्रसाद सहित सैकड़ों धर्म प्रेमी मौजूद थे।इस अवसर पर आचार्य शैलेश तिवारी द्वारा आयोजक समिति के सदस्य,प्रबुद्ध जन,एवं पत्रकारों को  सम्मानित  किया गया।।                                                          

 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS