ब्रेकिंग न्यूज़
जीपीएफ पर सरकार ने घटाई ब्याज दर, जानिए अब कितना मिलेगा इंटरेस्टमार्क एस्पर होंगे अमेरिका के नए रक्षा मंत्रीउप्र के एक लाख सहायक शिक्षकों बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने पलटा इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसलासुपर- 30 के अभिनेता ऋतिक रोशन से मिले उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और आनंद कुमारपूर्व प्रधानमंत्री स्व. चंद्रशेखर के पुत्र नीरज शेखर भाजपा में शामिल, अमित शाह से किया था संपर्कविश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला कल से, अर्घा से जलार्पण करेंगे कांवरियेयूपी भाजपा को मिला नया अध्यक्ष, स्वतंत्र देव सिंह को मिली जिम्मेदारीकर्नाटक संकट: बागी विधायकों की याचिका पर फैसला सुरक्षित, सर्वोच्च न्यायालय कल सुनाएगा फैसला
बिहार
मृतकों की संख्या बढ़कर 108, अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश के खिलाफ लगे नारे
By Deshwani | Publish Date: 18/6/2019 1:17:47 PM
मृतकों की संख्या बढ़कर 108, अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश के खिलाफ लगे नारे

मुजफ्फरपुर। बिहार में चमकी बुखार का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। मुजफ्फरपुर में इंसेफेलाइटिस की चपेट में आने से 108 बच्चों की मौत हो चुकी है। वहीं बिहार में अब तक 129 बच्चों की मौत हो चुकी है। इसके चलते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज मुजफ्फरपुर के कृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल (एसकेएमसीएच) का दौरा करने पहुंचे। उन्होंने बच्चों का हालचाल जाना। दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मीडिया से कोई बात किए बिना वहां से निकल गए।

 
मुजफ्फरपुर के अस्पताल का दौरा करने पहुंचे नीतीश कुमार का लोगों ने जमकर विरोध किया। इस दौरान लोगों ने राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वापस जाओ के नारे लगाए। 
 
ज्ञात हो इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की थी। बैठक में फैसला लिया गया कि बच्चों के इलाज पर होने वाले खर्च को भी अब सरकार उठाएगी। मृतकों के परिवार को मुआवजे के तौर पर 4-4 लाख रुपए दिए जाएंगे। सरकार ने फैसला किया है कि उनकी टीम हर उस घर में जाएगी जिस घर में इस बीमारी से बच्चों की मौत हुई है। टीम बीमारी के बैक ग्राउंड को जानने की कोशिश करेगी क्योंकि सरकार अब तक यह पता नहीं कर पाई है कि आखिर इस बीमारी की वजह क्या है।
 
इसके अतिरक्त राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मुजफ्फरपुर जिले में इंसफेलाइटिट वायरस की वजह से बच्चों की मौत की बढ़ती संख्या पर सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और बिहार सरकार से रिपोर्ट दाखिल करने के लिए एक नोटिस जारी किया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS