ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
राष्ट्रीय
उदित राज ने भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का 'हाथ', टिकट ना मिलने से थे खफा
By Deshwani | Publish Date: 24/4/2019 12:14:53 PM
उदित राज ने भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का 'हाथ', टिकट ना मिलने से थे खफा

नई दिल्ली। दिल्ली के उत्तर पश्चिम लोकसभा सीट से टिकट न मिलने से नाराज बीजेपी नाराज सांसद उदित राज ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में सांसद उदित राज कांग्रेस में शामिल हुए।

 
पार्टी सूत्रों के मुताबिक, उदित राज ने आज सुबह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की जिन्होंने पार्टी में उनका स्वागत किया। पिछले लोकसभा चुनाव में उत्तर पश्चिमी दिल्ली सीट से भाजपा के टिकट पर सांसद बने राज को इस बार टिकट नहीं मिला जिसके बाद से वह खुलकर नाराजगी जाहिर कर रहे थे। 
 
बता दें कि उदित राज का टिकट काटकर बीजेपी ने हंसराज हंस को टिकट दिया है। दिल्ली की उत्तर पश्चिम संसदीय सीट से सांसद उदित राज ने मंगलवार को दावा किया था कि उन पर भाजपा छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है। गौरतलब है कि भाजपा ने इंडियन जस्टिस पार्टी के इस पूर्व प्रमुख को लोकसभा चुनाव के लिए इस बार टिकट नहीं दिया है। भाजपा ने उनकी जगह गायक हंस राज हंस को टिकट दिया है।
 
उदित राज इस सीट पर 2014 में विजयी हुये थे। टिकट कटने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘जब 2018 में एससी-एसटी संशोधन पर बंद आयोजित हुआ, मैंने विरोध किया, इसलिए ही पार्टी नेतृत्व संभवतया मुझसे नाराज हो गया। जब सरकार की तरफ से कोई भर्ती नहीं हो रही, तो क्या मुझे इस मुद्दे को नहीं उठाना चाहिेये था? मैं दलितों के मुद्दों उठाता रहूंगा।'

दिल्ली की सात सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार:
डॉ. हर्षवर्धन
रमेश बिधूड़ी
मनोज तिवारी 
प्रवेश वर्मा
मिनाक्षी लेखी
गौतम गंभीर
हंस राज हंस
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS