ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
राष्ट्रीय
शिवसेना में शामिल हुईं प्रियंका चतुर्वेदी, कहा- 'कांग्रेस ने मेरा कभी सम्‍मान नहीं किया'
By Deshwani | Publish Date: 19/4/2019 6:55:54 PM
शिवसेना में शामिल हुईं प्रियंका चतुर्वेदी, कहा- 'कांग्रेस ने मेरा कभी सम्‍मान नहीं किया'

मुंबई। अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी आज शिवसेना में शामिल हो गईं। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने प्रियंका का गर्मजोशी से स्वागत किया है। इस अवसर पर महाराष्ट्र के उद्योगमंत्री सुभाष देसाई भी उपस्थित रहे। इससे कांग्रेस पार्टी को करारा झटका लगा है।

 
मुंबई में मातोश्री बंगले पर आयोजित एक सादे कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि प्रियंका चतुर्वेदी महिलाओं व बच्चों के लिए लेखन करती हैं। साथ ही मुंबई से प्रियंका जी का पहले से ही जुड़ाव रहा है। इसीलिए उन्होंने प्रियंका चतुर्वेदी को शिवसेना में प्रवेश दिया है। वह निश्चित ही शिवसेना की विचारधारा से जुड़कर बेहतर काम करेंगी। उन्हें बहुत जल्द पूरे देश में काम करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी।
 
प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि वह मुंबई से जुड़ी रही हैं। यहां के हर मुद्दे से वह परिचित हैं, इसीलिए उन्होंने कांग्रेस छोड़ने के बाद शिवसेना से ही जुड़ने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि पिछले 10 साल से कांग्रेस के लिए वह काम कर रही थीं, लेकिन पार्टी में उनका उचित सम्मान नहीं किया गया। इसीलिए उन्होंने कांग्रेस पार्टी छोड़ने का निर्णय लिया। वह जिस तरह से निष्ठावान रहकर कांग्रेस के लिए काम कर रही थीं, उसी निष्ठा के साथ शिवसेना में भी काम करने वाली हैं। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS