ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार
मोतिहारी के शिकारगंज में बच्ची के साथ मां जलकर मरी, किसी ने कहा- खुदकुशी तो पिता ने कहा- दहेज के लिए बेटी व नतिनी को जिन्दा जलाया
By Deshwani | Publish Date: 19/3/2019 8:27:40 PM
मोतिहारी के शिकारगंज में बच्ची के साथ मां जलकर मरी, किसी ने कहा- खुदकुशी तो पिता ने कहा- दहेज के लिए बेटी व नतिनी को जिन्दा जलाया

मोतिहारी। चिरैया। अर्चना रंजन।
 
चिरैया प्रखंड के शिकारगंज थाना क्षेत्र के रुपहरा गांव में एक महिला व उसकी 8 माह की पुत्री की आग से झुलसने से मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि रूपहरा निवासी सुनील महतो की पत्नी 23 वर्षीय सुकनी देवी ने अपने व अपनी दुधमुही बच्ची रंजीता के शरीर पर केरोसिन छिड़कर आग लगाकर खुदकुशी कर ली। बताया गया है कि उसने पारिवारिक कलह के कारण बेटी के साथ आत्म हत्या कर ली। जबकि उसके पिता ने ससुरालियों पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया है।
 

 मृतक सुकनी देवी के पिता सीतामढ़ी के सूपी थाना क्षेत्र में मसाही गांव निवासी रामजन्म महतो ने बेटी के ससुरालियों को आरोपी बनाया है। उन्होंने अपने दामाद, समधी व समधिनी सहित पांच लोगों को हत्या का आरोपी बनाया है। कहा है कि ससुरोलियों ने उनकी बेटी व नतिनी को दहेज के लिए जिंदा जलाकर मार डाला है।
 
 
मृतका रुपहरा गांव निवासी सुनिल महतो की पत्नी सुकनी देवी (23) तथा पुत्री रंजिता कुमारी 8 माह है।  मृतिका ने रविवार की रात पारिवारिक कलह से तंग आकर अपनी 8 माह की पुत्री को आपने सीने में बांध मिट्टी का तेल छिड़क कर खुद व अपनी छोटी सी दुधमुंही बच्ची का जीवन समाप्त कर लिया।
 
 
सुकनी देवी सीतामढ़ी जिले के सूपी थाना क्षेत्र के मसाही गांव निवासी रामजन्म महतो की पुत्री थी। इधर घटना को लेकर मृतिका के पिता रामजन्म महतों ने चिरैया प्रखंड के शिकारगंज थाना में प्रथमिकी दर्ज कराई है। उसके पिता ने प्राथमिकी में अपने समधी नन्हक महतों, दमाद सुनिल महतो, देवर चंदन कुमार, नंदन कुमार व अपने समधिनी को आरोपित करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।
 
 
 रामजन्म महतों ने अपने आवेदन में सभी को आरोपित करते हुए लिखा है कि इन सभी आरोपीयो ने मेरी पुत्री को दहेज में रुपए नहीं देने के कारण उनकी पुत्री व नतनी को मिट्टी का तेल छिड़क कर जिन्दा जला कर जान से मार दिया गया है। रामजन्म महतों ने लिखा है कि वह वर्ष 2013 में अपने पुत्री की शादी हिन्दू रीति रिवाज के साथ किया था। शादी के समय अपने औकात के अनुसार दहेज स्वरुप रुपये भी दिए  थे। मेंरी पुत्री के घरवाले सभी दहेज लोभियों ने शादी के बाद से हीं दहेज में और रुपए देने की मांग करने लगे थे।
 
 
 जिसकी पूर्ति नहीं होने के कारण इन सभी ने एक साथ मिलकर उनकी पुत्री व नतनी को जिन्दा जला दिया है। इधर घटना के बारे में  ग्रामीणों ने बताया कि मृतका के पति गरीबी के कारण मुंबई में रहकर अपने परिवार के भरण-पोषण के खातिर मजदूरी करता है। हाल हीं में मुंबई में रह रहे पति को सुकनी देवी से फोन पर कुछ बातों को लेकर अनबन होने की बात सामने आई थी। जिसके कारण सुकनी ने इस तरह के कदम उठाकर अपना एवं अपने दुधमुंही बच्ची का जीवन समाप्त कर लिया है। ग्रामीणों ने बताया कि इस मामले को लेकर मृतक के पिता के साथ सोमवार को आपसी पंचायत कर मामले को समाप्त भी कर दिया गया है। लेकिन शिकारगंज थानाध्यक्ष ललन कुमार ने कहा कि इस मामले में मृतक के पिता के बयान पर प्रथमिकी दर्ज कर ली गई है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। सभी अभियुक्त घटना के बाद से घर छोड़ कर फरार है।
 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS