ब्रेकिंग न्यूज़
मनसे प्रमुख राज ठाकरे पूछताछ के लिए पहुंचे ईडी दफ्तर, दफ्तर के बाहर धारा-144हजारों के तादाद में युवक-युवतियां, महिलाओं समेत आम जनों ने ली भाजपा की सदस्यताआशीष परियोजना डंकन अस्पताल रक्सौल के द्वारा पनटोका पंचायत भवन के प्रांगण में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजनएक दिवसीय प्रखंड स्तरीय कृषि समन्यवय कार्यक्रम रक्सौल के कृषि भवन में आयोजित, योजनाओं के बारे में किसानों को दी जानकारीपरिवार नियोजन पखवाड़ा के दौरान 429 महिलाओं ने कराई बंध्याकरण, आशा कार्यकर्ता व एएनएम का कार्य सराहनीयट्रेन की छत पर चढ़कर युवक ने किया ड्रामा, हिरासत में लेकर पुलिस कर रही है पूछताछरवीना टंडन ने किया खुलासा, कहा- मेरे पिता को नहीं लगता था कि मैं कभी एक्ट्रेस बन पाऊंगीगर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व व प्रसव के बाद बेहतर देखभाल के लिए की जाती है काउंसलिंग
बिहार
वीआईपी कोटे से आरक्षित कराता था रेलवे टिकट, गिरफ्तार
By Deshwani | Publish Date: 24/5/2018 11:44:03 AM
वीआईपी कोटे से आरक्षित कराता था रेलवे टिकट, गिरफ्तार

पटना / मुंबई। बिहार के लोकायुक्त, उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव समेत कई राज्यों के वरिष्ठ नौकरशाहों, सांसदों और विधायकों के फर्जी लेटरहेड पर वीआईपी कोटे से रेलवे टिकट आरक्षित करानेवाले एक युवक को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मूलरूप से उत्तर प्रदेश के लखनऊ का रहनेवाला आरोपित युवक टिकट आरक्षित कराने के लिए प्रति लेटरहेड 1200-2400 रुपये वसूलता था।

 
जानकारी के मुताबिक, मूल रूप से लखनऊ के निवासी 29 वर्षीय एक व्यक्ति को कथित रूप से नेताओं और नौकरशाहों के फर्जी लेटरहेड बनाने तथा वीआईपी कोटा के तहत धनी यात्रियों को टिकट बुक कराने के लिए ‘सिफारिश' के तौर पर उन्हें भेजने को लेकर गिरफ्तार किया गया है। मुंबई के एक जीआरपी अधिकारी ने बताया कि आरोपित देवप्रताप सिंह वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों को यह फर्जी पत्र बेचता था और उनसे प्रति पत्र 1200-2400 रुपये वसूलता था। 
 
इस संबंध में अधिकारी ने कहा, ‘‘अबतक की जांच के दौरान सामने आया है कि उसने महाराष्ट्र के एससीएस (गृह), उत्तरप्रदेश के मुख्य सचिव और बिहार के लोकायुक्त समेत विभिन्न राज्यों के वरिष्ठ नौकरशाहों, सांसदों और विधायकों के फर्जी लेटरहेड तैयार किये हैं।' डीसीपी (जीआरपी) समधन पवार ने कहा, ‘‘देवप्रताप सिंह प्रति पत्र करीब 1200-2400 रुपये लेता था। वह पिछले दो सालों से ऐसा कर रहा है।' स्थानीय अदालत ने उसे पुलिस हिरासत में भेज दिया है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS