ब्रेकिंग न्यूज़
अंतरराष्ट्रीय
हम शांति में यकीन रखते हैं, लेकिन हम आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे : मोदी
By Deshwani | Publish Date: 19/4/2018 11:43:46 AM
हम शांति में यकीन रखते हैं, लेकिन हम आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे : मोदी

लंदन। अपनी छह दिनों की यूरोप यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन में है। भारतीयों को संबोधित करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर में पहुंचे। मोदी 'भारत की बात सबके साथ' कार्यक्रम में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर में यहां भारत की बात सबके साथ कार्यक्रम में उन्होंने कहा , हम हमेशा अपनी बेटियों से पूछते हैं कि वो क्या कर रही हैं, कहां जा रही हैं। हमें अपने बेटों से भी पूछना चाहिये। जो व्यक्ति ये अपराध कर रहा है , वह भी किसी का बेटा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कठुआ और उन्नाव बलात्कार मामले का जिक्र करते हुए कहा कि बलात्कार , बलात्कार होता है ' और उसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिये।

 

उन्होंने कहा, 'हम शांति में यकीन रखते हैं, लेकिन हम आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम उन्हें करारा जवाब देंगे और उसी भाषा में देंगे जिसे वे समझते हैं। आतंकवाद कभी स्वीकार नहीं किया जाएगा'। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें सेना पर गर्व है, क्योंकि उन्होंने सटीकता के साथ सर्जिकल हमलों को अंजाम दिया और सुबह होने से पहले ही अपना काम पूरा कर वह लौट आई। पीएम मोदी ने बताया कि कैसे भारत ने हमलों के बारे में पहले पाकिस्तान को सूचित किया और फिर मीडिया एवं लोगों को बताया। 

 

 

गौरतलब है कि जिस हॉल से प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को संबोधित किया उसका अपना एक अनोखा इतिहास है। दरअसल, यह हॉल पहले मेथोडिस्ट सेंट्रल हॉल के नाम से जाना जाता था। यह लंदन के सबसे बड़े मल्टी परपस वेन्यू में से एक है। यहां 1946 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र सभा का आयोजन किया गया था। इसी हॉल में वर्ष 1931 में महात्मा गांधी ने भाषण दिया था। महात्मा गांधी के अलावा मार्टिन लूथर किंग, दलाई लामा और प्रिंसेस डाइना भी यहां भाषण दे चुके हैं।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को फिर सख्त चेतावनी देने के साथ दुनिया के सामने उसकी पोल खोली है। लंदन के वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में बुधवार रात 'भारत की बात, सबके साथ' खास कार्यक्रम में उन्होंने खुलासा किया कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सबसे पहले पाकिस्तान को जानकारी दी गई थी और उसे कहा था कि वक्त हो तो शव ले जाओ। इसके बाद भारत की जनता को जानकारी दी गई। इस खुलासे के साथ ही मोदी ने कहा कि आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भारत की पीठ में वार किया तो उसी तरीके से जवाब दिया जाएगा। वेस्टमिंस्टर के सेंट्रल हॉल में सैकड़ों भारतीयों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने 2016 में सीमा पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर कहा कि भारत को पता है कि उन लोगों को सबक कैसे सिखाना है, जो आतंकवाद का निर्यात करते हैं और भारतीयों की हत्या करते हैं।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS