ब्रेकिंग न्यूज़
राजस्थान: साथ नजर आए सचिन पायलट और अशोक गहलोत, विधायक दल की बैठक कलराजस्थान विधानसभा चुनाव में राजकुमार शर्मा ने लगाई हैट्रिकआखिरकार सैफ अली खान ने देख ही ली सारा की 'केदारनाथ', करीना कपूर देंगी पार्टीछत्तीसगढ़: बीजेपी के हारते ही मुख्यमंत्री रमन सिंह के प्रमुख सचिव ने ली लंबी छुट्टीउपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट कर राहुल गांधी को दी बधाई, प्रधानमंत्री मोदी पर बोला हमलाभारत और रूस के बीच युद्धाभ्यास अविन्द्रा हुआ शुरूतीन राज्यों के रुझान में कांग्रेस को बढ़त, खुशी से झूमे कांग्रेस-आरजेडी कार्यकर्तावाजपेयी, अनंत, चटर्जी को श्रद्धांजलि देने के बाद दोनों सदनों की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित
मोतिहारी
कर्ज के बोझ से दबे मोतिहारी के जूता दुकानादार ने रच डाली अपने ही अपहरण की कहानी
By Deshwani | Publish Date: 19/3/2018 11:38:13 PM
कर्ज के बोझ से दबे मोतिहारी के जूता दुकानादार ने रच डाली अपने ही अपहरण की कहानी

प्रतीकात्मक तस्वीर।

मोतिहारी। शहर के हनुमान गढ़ी निवासी मो नौशाद हुसैन को सोमवार को कर्ज की रकम चुकानी थी। रुपयो की व्यवस्था नहीं हो सकी। तो रविवार की रात रहस्यमय ढंग से गायब हो गया। रात को घर नहीं लौटा। परिजन परेशान थे। घरवालों की घबराहट और भी बढ़ गयी जब सोमवार को नाशाद हुसैन की मीनाबाजार नगरपालिका स्थित जूते की दुकान पर एक परचा चश्पा पाया। परचे पर लिख हुआ है- नौशाद का अपहरण कर लिया गया है। खैरियत चाहते है तो 5 लाख रुपये घोड़ासहन पहुंचा दो। नहीं तो अंजाम भुगतने को तैयार रहो।

-अपहरण की सूचना पर पुलिस हरकत में आई
नौशाद के अपहरण की खबर पर जिले की पुलिस हरकत में आई। नगर पुलिस और छतौनी पुलिस ने दुकान की जांच की। एसपी उपेन्द्र शर्मा और डीएसपी पंकज रावत ने खुद नौशाद के बड़े भाई लाल बाबू उफ अहमद हुसैन से बातचीत की। सीसीटीवी फुटेज खंगाला गया। तब पूरी हकीकत सामने आ गयी। पुलिस का कहना है कि जब सीसीटीवी फुटेज में इस बात का खुलासा हुआ कि नौशान ने खुद ही अपने अपहरण की कहानी गढ़ डाली। सीसीटीवी में देखा गया कि नौशाद रात करीब 9 बजे अपनी दुकान बंद कर रहा है। उसके बाद खुद परचा चश्पा किया। मोबाइल से बात करते हुए वह टेम्पो पकड़ा और मोतिहारी बापूधाम स्टेशन पहुंचा।
 
पुलिस ने मोबाइल टावर की जांच भी की
मोतिहारी बापूधाम स्टेशन के बाद उसका लोकेशन जीवधारा स्टेशन तक रहा। उसके बाद उसके मोबाइल का लोकेशन पुन: मोतिहारी की तरफ आने लगा। देर रात उसका लोकेशन यूपी के कुशीनगर तक गया। परिजन से बात करने पर पता चला कि उसकी बहन की ससुराल कुशीनगर है। पुलिस का कहना है कि वह मोतिहारी से जीवधारा गया आैर वहां पर उतर कर नरकटियागंज जा रही ट्रेन पर सवार हो गया।
 
- 8 लाख के कर्ज से दबा था नौशाद
पुलिस का कहना है कि जांच से पता चला है कि उसने कई लोगों से सूद पर रुपये लिए थे। वह रकम बढ़ कर 8 लाख तक पहुंच गयी थी। सोमवार को रुपये लौटाने थे। रुपयों का इंतजाम नहीं हो सका। एसपी उपेन्द्र शर्मा का कहना है कि कर्ज से दबे होने के कारण ही नौशाद ने अपहरण की कहानी रची है।
 
अपने ही हाथों से लिखा फिरौती का पर्चा
पुलिस ने नौशाद के जूते की दुकान की गहन जांच की। पुलिस का कहना है कि उसके दुकान से एक डायरी मिली है। डायरी का एक पन्ना फटा हुआ है। जिस पन्ने को फाड़ा गया है उसके नीचे वाले पेज पर फिरौती वाली लिखावट का दाग यानी कलम की लिखावट का निशान स्पष्ट रूप से दिख रहा है। 

   
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS