बिहार
दंडाधिकारी ने परीक्षा केंद्र के अंदर मोबाइल ले जाने से मना किया तो किया हंगामा, जान मारने की धमकी
By Deshwani | Publish Date: 14/2/2018 5:43:07 PM
दंडाधिकारी ने परीक्षा केंद्र के अंदर मोबाइल ले जाने से मना किया तो किया हंगामा, जान मारने की धमकी

- पुलिस ले गई थाने तो उसके साथियों ने पुलिस संग भी की हाथापाई, तीन धराए, भेजे गए जेल
- पकड़ा गया छात्र स्नातक का छात्र, इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए दूसरी बार दे रहा था इंटर की परीक्षा

पीपराकोठी। माला सिन्हा


 थाना क्षेत्र के जीवधारा स्थित श्री परशुराम गिरि उच्च विद्यालय परीक्षा केंद्र के दण्डाधिकारी सह बीइओ अजित कुमार शर्मा धमकी देने का मामला सामने आया है। बताया जाता है िक उनके साथ मोबाइल ले जाने को लेकर विवाद हुआ, िजसपर एक परीक्षार्थी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। इतना ही नहीं परीक्षा केंद्र पर हंगाम शुरू कर दिया। बाद में पुलिस ने उक्त परीक्षार्थी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर बुधवार को जेल भेज दिया. जेल भेजे जाने वाले में पताही बेनीपंट्टी निवासी पुष्पेश कुमार मिश्रा, अरेराज जोगियार बाबुटोला का राहुल कुमार व पीपराकोठी थाना क्षेत्र के रौशन कुमार उर्फ मोनू ठाकुर हैं. इस संबंध में बीइओ श्री शर्मा के आवेदन कर प्राथमिकी दर्ज की गई है. घटना के संबंध में बीइओ ने बताया कि मंगलवार को पहली पाली में परीक्षार्थी पुष्पेश कुमार मिश्रा 20 मिनट विलंब से केंद्र के मुख्य द्वार पर पहुंचा. जिसके तलाशी के क्रम में कुछ चिट- पुर्जे व मोबाइल मिले. वह मोबाइल को अंदर ले जाने का दबाव देने लगा. इस बात पर उसे कार्यालय में ले जाकर केंद्राधीक्षक के समक्ष पेश किया गया. कुछ देर बाद उसे परीक्षा देने के लिए कहा गया लेकिन वह कहा कि मुझे अनुपस्थित किया जाय. सभी लोगों ने उसे बहुत मनाया लेकिन उसने परीक्षा नहीं दी और मोबाइल लेकर चला गया. मध्यांतर के समय आधे दर्जन बच्चों के साथ आकर हंगामा करने लगा. पुनः वह शाम में परीक्षा समाप्ति के बाद दर्जन भर बच्चों के साथ पहुंच कर हंगामा करते हुये बीइओ को जान से मारने की धमकी दी. साथ ही उसने लालमुन्नी नामक एक शिक्षिका को गोली मारने की धमकी दी. हंगामा के कारण स्थिति विगड़ते देख दण्डाधिकारी ने कंट्रोल रूम व थाना को सूचना दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्कूल परिसर से पुष्पेश को धर दबोचा. और उसे थाना लाई. देर शाम 7-8 की संख्या में पहुचें बच्चों ने पुष्पेश को जबरन थाना परिसर से ले जाना चाहा. इस बीच पुलिस के साथ नोकझोंक की भी घटना घटी. बाद में पुलिस ने राहुल व रौशन को गिरफ्तार कर लिया, जबकि अन्य भाग निकले. थानाध्यक्ष अभिषेक कुमार रंजन ने बताया कि पुष्पेश की ज्यादा उम्र को देखते हुए जब उससे पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह पंडित उगम पांडेय कॉलेज मोतिहारी में स्नातक सेकेंड ईयर इतिहास ऑनर्स का छात्र है. 2013 में मैट्रिक किया और 2015 में इंटर कर चुका है. इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए अपने चाचा के सहयोग से घोड़ासहन के एसएसएनके कॉलेज से नियमित रूप से दोबारा इंटर कर रहा था. वैसे पुलिस ने तीनों को जेल भेज दिया है.

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS