ब्रेकिंग न्यूज़
दुष्कर्म के दोषी आसाराम को अभी भी उनके अंधभक्त मान रहे पाक साफ, कर रहे हवनदुल्हन ने शादी मंडप में शादी करने से किया इनकार, दूल्हे की दिमागी हालत खराबबिहार सरकार जल्द करें गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान : हाइकोर्टनाबालिग से बलात्कार के मामले आसाराम को उम्रकैद, बाकी दोषियों को 20-20 साल की सजाकुत्तों-बंदरों से परेशान हुआ एम्स के डॉक्टर और मरीज, मेनका गांधी को लिखा पत्रमोदी-माल्या पर शिकंजा कसेगी ईडी, संपत्ति कुर्क करने के लिए नए अध्यादेश की तैयारीकर्नाटक चुनाव: जदयू ने जारी की दूसरी लिस्ट, 12 उम्मीदवारों के नामों की घोषणाभारत और चीन के बीच मतभेद विवादों में नहीं बदलना चाहिए : रक्षामंत्री
बिहार
प्रोजेक्ट गर्व के तहत 40 बच्चों को दी जा रही मुफ्त कोचिंग
By Deshwani | Publish Date: 15/12/2017 7:34:20 PM
प्रोजेक्ट गर्व के तहत 40 बच्चों को दी जा रही मुफ्त कोचिंग

पटना। देशवाणी न्यूज नेटवर्क


सर गणेश दत्त पाटलिपुत्र स्कूल के पूर्ववर्ती छात्र एसोसिएशन गरीब बच्‍चों की मदद और उनकी प्रतिभा को उभारे के लिए प्रतिबद्ध है। ऐसे छात्र-छात्राबों के लिए पूर्ववर्ती छात्र एसोसिएशन प्रोजेक्ट चेतना,  प्रोजेक्ट गर्व, प्रोजेक्ट नीर और प्रोजेक्ट शैशव के जरिये मदद करने का बीड़ा उठाया है। उक्‍त बातें सर गणेश दत्त पाटलिपुत्र स्कूल के पूर्ववर्ती छात्र एसोसिएशन के अध्‍यक्ष डॉ विनय रंजन ने बांकीपुर क्‍लब, पटना में आयोजित गेट टू गेदर के दौरान कही। इसके अलावा गेट टू गेदर में शामिल रहे 150 लोगों ने एसोसिएशन द्वारा किये जा रहे कार्यक्रमों की समीक्षा की।
इससे पूर्व डॉ रंजन ने कहा कि पूर्ववर्ती छात्र एसोसिएशन ऐसे बच्‍चों की मदद करता है, जो गरीब हैं। साथ ही स्‍कूल के व्‍यवस्‍था को सुचारू ढंग से चलाने में भी एसोसिएशन मदद करता है। प्रोजेक्‍ट गर्व के तहत 40 बच्‍चों को सेलेक्‍ट कर मुफ्त कोचिंग दी जाती है। इसमें हिंदी, इंग्लिश, गणित विषयों के लिए सुबह में एक्‍सट्रा क्‍लासेस करवाई जाती है। इसमें स्‍कूल के टीचर शामिल नहीं होते हैं। इन बच्‍चों के लिए अलग से टीचर की व्‍यवस्‍था की गई, जिसका सारा खर्च एसोसिएशन वहन करता है। इस प्रोजेक्‍ट के तहत ऐसे बच्‍चों को ड्रेस से लेकर कोर्स मैटेरियल भी उपलब्‍ध कराया जाता है।
डॉ रंजन ने आगे बताया कि प्रोजेक्‍ट चेतना के तहत सर गणेश दत्त पाटलिपुत्र स्कूल में स्‍वछता की जिम्‍मेवारी एसोसिएशन ने ले रखी है, जिसके तहत नियमित सफाई का खास ख्‍याल रखा जाता है। अभी हाल ही में टायलेट और बाथरूम का जीर्णोद्धार भी एसोसिएशन की ओर से कराया गया है। साथ की नियमित स्‍वीपर की व्‍यवस्‍था की गई है, जिसका खर्च भी एसोसिएशन उठाती है। प्रोजेक्‍ट नीर के तहत स्‍कूल में बच्‍चों को पीने के लिए साफ पानी की व्‍यवस्‍था भी एसोसिएशन करती है। अभी हाल ही में खराब पड़े वाटर कूलर की भी मरम्‍मत एसोसिएशन ने करवाई और उसके एनुअल मेनटेनेंस की भी व्‍यवस्‍था की। वहीं प्रोजेक्‍ट शैशव के तहत दसवीं और बारहवीं में अव्‍वल आने वाले बच्‍चों को स्‍कॉलरशिप के तौर पर 10 हजार एसोसिएशन की तरफ से दी जाती है, ताकि उनका हौसला बढ़े।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS