ब्रेकिंग न्यूज़
परीक्षा में अच्‍छे अंक ही सबकुछ नहीं - मोदी, परीक्षा पे चर्चा-2020 कार्यक्रम में देश भर के दो हजार से अधिक विद्यार्थी ले रहे भागजम्‍मू कश्‍मीर के शोपियां जिले में 3 आतंकवादी ढेर, सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ जारीतहकीकात बाद दें किराया, मोतिहारी के अंबिकानगर लॉज से पटना से अपहृत छात्र मुक्त, प्रिंस पाण्डेय समेत 5 गिरफ्तारमोतिहारी की सांस्कृतिक भूमि को उर्वरा बनानेवाले पूर्व वीसी डॉ वीरेन्द्रनाथ पाण्डेय का पटना में निधनकेन्द्र सरकार के गृह राज्यंत्री, बिहार के भाजपा अध्यक्ष व विधायक साथ रक्सौल में 47 वी बटालियन आउट पोस्ट का जायजा लियाबेतिया में नाजायज संबंध के विरोध पर पति ने पत्नी को दिया तलाकमोतिहारी के सुगौली में परिज सुबह जगे तो देखा पति व गर्भवती पत्नी की गला रेत कर हत्या, फौरेंसिक टीम पहुंची, खून से सना चाकू बरामद, एसआईटी गठितबेगूसराय में तेज रफ्तार बोलेरो की चपेट में आने से एक ही मोहल्ले के तीन लोगों की मौत
राष्ट्रीय
आज से सभी वाहनों के लिए स्वचालित टोल टैक्स भुगतान की अनिवार्य फास्टैग व्यवस्था लागू
By Deshwani | Publish Date: 15/12/2019 12:16:00 PM
आज से सभी वाहनों के लिए स्वचालित टोल टैक्स भुगतान की अनिवार्य फास्टैग व्यवस्था लागू

नई दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय इलैक्ट्रॉनिक टोल संकलन प्रणाली लागू की है जिससे फास्टैग के माध्यम से शुल्क संकलित किया जाएगा और समय तथा ईंधन की बचत, प्रदूषण में कमी और यातायात का निर्बाध आवागमन सुनिश्चित होगा। फास्टैग के इस्तेमाल से चालकों को शुल्क के भुगतान के लिये टोल प्लाज़ा पर अपने वाहन रोकने की आवश्यकता नहीं होगी।

 
 
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण-एन.एच.ए.आई. ने टोल प्लाज़ा पर शुल्क संकलन के लिये इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली लगाई है। फास्टैग के प्रयोग से रेडियो फ्रीक्वेन्सी पहचान प्रौद्योगिकी के माध्यम से चलते वाहन से टोल शुल्क का भुगतान किया जाता है। अगर कोई चालक बिना फास्टैग लगे वाहन को इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह लेन में ले जाता है तो उसे दुगना शुल्क देना होगा। 
 
 
इससे पहले यह तय किया गया था कि टोल प्लाज़ा पर एक लेन को छोड़कर सभी लेन को फास्टैग लेन घोषित किया जाएगा। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एन.एच.ए.आई. से कहा है कि 75 प्रतिशत टोल लेन से इलेक्ट्रॉनिक तरीके से शुल्क का संग्रह किया जाना चाहिए और अस्थाई रूप से 25 प्रतिशत फास्टैग लेन को हाइब्रिड लेन में बदला जाये। मंत्रालय ने कहा कि यह अस्थाई व्यवस्था केवल 30 दिन के लिये रहेगी ताकि यातायात सुचारू रूप से जारी रहे और किसी चालक को कोई असुविधा न हो।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS