ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
राष्ट्रीय
लोगों के अनुरोध पर आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष - PM CARES की घोषणा, नोट करें खाता नम्बर
By Deshwani | Publish Date: 28/3/2020 11:41:39 PM
लोगों के अनुरोध पर आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष - PM CARES की घोषणा, नोट करें खाता नम्बर

नई दिल्ली। आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायताऔर राहत कोष - PM CARES बनाने की घोषणा प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने  की है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि विभिन्‍न वर्गों के लोगों ने कोविड-19 से निपटने में सहायता के लिए दान देने की इच्‍छा व्‍यक्‍त की थी। इसलिए यह कोष बनाया गया है।

 

प्रधानमंत्री का यह भी मानना है कि किसी भी संकट से निपटने के लिए जनभागीदारी ही सबसे प्रबल व प्रभावशाली रास्ता है।  PM CARES कोष का खाता नम्‍बर है- 2121-PM-20202, इसका IFSC कोड - SBIN0000691 है।


 इस विशेष राष्‍ट्रीय कोष का प्राथमिकउद्देश्‍य कोविड-19  महामारी जैसी किसी भी आपात या संकट की स्थिति से निपटना है। प्रधानमंत्री इस न्‍यास के अध्‍यक्ष होंगे। इसके सदस्‍यों में रक्षा-मंत्री, गृह-मंत्री और वित्‍त-मंत्री शामिल हैं। इस कोष में वेबसाइट- pmindia.gov.inका इस्‍तेमालकर PM CARES Fund में दान किया जा सकता है। इस कोष में छोटी राशि भी दानदी जा सकेगी जिससे बड़ी संख्‍या में लोग योगदान कर सकेंगे। इसमें दी गई राशि धारा 80-जी के तहत आयकर से मुक्‍त होगी। ए‍क रिपोर्ट:-

 

प्रधानमंत्री का हमेशा से यह मानना रहा है कि किसी भी मुद्दे से निपटने में जन-भागीदारी सबसे प्रभावशाली तरीका है और उनकी यह घोषणा इसी का एक और उदाहरण है।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि विभिन्‍न वर्गों के लोगों ने कोविड-19 से निपटने में सहायता के लिए दान देने की इच्‍छा व्‍यक्‍त की थी। इसलिए यह कोष बनाया गया है। प्रधानमंत्री ने लोगों से इसमें दान करनेअपील की। उन्‍होंने कहा कि भविष्‍य में इसी प्रकार के संकट की स्थिति में इसका इस्‍तेमालकिया जा सकेगा।

 PM CARES कोष का खाता नम्‍बर है- 2121-PM-20202, इसका IFSC कोड - SBIN0000691 है।  Name of Bank & Branch : State Bank of India, New Delhi Main Branch 


 SWIFT CODE  है - SBININBB-104 और UPI- ID. है - PMCARES@SBI लोग UPI, नेटबैंकिंग, RTGS, NEFT और डेबिट तथा क्रेडिट कार्ड का इस्‍तेमालसे pmindia.gov.in पर भी इस कोष में डोनेशन दिया जा सकता है।

भारतीय जनता पार्टी के सभी सांसद अपनी सांसद निधि से केंद्रीय राहत कोष में एक-एक करोड़ रुपये का योगदान करेंगे। भाजपा अध्‍यक्ष जगत प्रकाशनड्डा ने कहा है कि इस महामारी से लडने के लिए पार्टी के सभी सांसद और विधायक अपनेएक महीने का वेतन भी केंद्रीय राहत कोष में देंगे।


गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के निर्देशानुसार सरकार, पूर्णबंदी के दौरान प्रवासी कामगारों को हर प्रकार की सहायतादेने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कोविड-19 से निपटने में देश की तैयारी की समीक्षा की।  

गृह-सचिव ने राज्‍यों को फिर से पत्र लिखकर अनुरोध कियाहै कि गृह-राज्‍य लौटने वाले तीर्थ-यात्रियों और प्रवासी कामगारों के लिए तुरंत राहत शिविर स्‍थापित करें। राज्‍यों से यह भी कहा गया है कि वे इन राहत शिविरों की स्थिति और दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में व्‍यापक प्रचार करें। प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजनाके तहत और राज्‍य प्रशासन द्वारा किए जा रहे उपायों का भी प्रचार करने को कहा गया है।

खाते का नाम: PM Cares

AcNo : 2121PM20202

IFSc code SBIN0000691

बैंक और शाखा का नाम: भारतीय स्टेट बैंक, नई दिल्ली मुख्य शाखा


स्विफ्ट कोड: SBININBB104

यूपीआई आईडी:  pmcares@sbi

भुगतान के निम्‍नलिखित माध्‍यम वेबसाइट pmindia.gov.in पर उपलब्ध हैं-

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड

इंटरनेट बैंकिंग

यूपीआई (भीम, फोनपे, अमेजन पे, गूगल पे, पेटीएम, मोबिकविक, इत्‍यादि)

आरटीजीएस/एनईएफटी

इस कोष में दी जाने वाली दान राशि पर धारा 80 (जी) के तहत आयकर से छूट दी जाएगी।  

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS