ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के सुपारी किलर का झारखंड में भी डिमांड, धनबाद में व्यवसायी हुई हत्या के दो आरोपित सुगौली से गिरफ्तार, यहां भी करनेवाले थे प्रोपर्टी डीलर का मर्डरसमस्तीपुर: 11 महीने बाद पांच मार्च से कई रेलखंड पर चलायी जाएगी बीस स्पेशल डेमू एक्सप्रेसकेंद्रीय शिक्षा मंत्री ने भारतीय ज्ञान परंपरा पाठ्यक्रम कार्यक्रम की अध्ययन सामग्री का विमोचन कियाSBI ने गृह ऋण पर ब्‍याज दर 6.7 प्रतिशत कीमोतिहारी में विभिन्न मुहल्लों में विकास दिवस के रूप मनाया गया बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का 70 वां जन्मदिनबैंक से रुपए निकालने के बाद बरतें सतर्कता, मोतिहारी में झपटमारों ने स्कॉर्पियों से उड़ाए 13 लाख नगदसमस्तीपुर: सरायरंजन में शार्ट सर्किट, महादलित के दर्जन भर घर राख, लाखों की क्षतिवाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह ने फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, ईएनसी का पदभार संभाला
राष्ट्रीय
भारतीय नौसेना ने थल सेना एवं वायु सेना के साथ संयुक्त युद्धाभ्यास किया
By Deshwani | Publish Date: 25/1/2021 7:44:16 PM
भारतीय नौसेना ने थल सेना एवं वायु सेना के साथ संयुक्त युद्धाभ्यास किया

नई दिल्ली। भारतीय सशस्त्र सेना ने अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी में बड़े पैमाने पर एम्फैक्स-21 के साथ संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास 'कवच' को पूर्ण किया है।  21 जनवरी से 25 जनवरी 2021 तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में बड़े पैमाने पर सेना के तीनों अंगों का संयुक्त जल-थल-नभ युद्धाभ्यास एम्फीमेक्स -21 का आयोजन किया गया था। इस अभ्यास में नौसेना के जहाजों, ज़मीन, हवा और पानी तीनों के युद्ध में प्रवीण सैनिकों और वायु सेना के विभिन्न प्रकार के विमानों की भागीदारी शामिल थी।

 


इस युद्धाभ्यास का उद्देश्य अपने द्वीप क्षेत्रों की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए भारत की क्षमताओं का सत्यापन करना था। इसमें सेना के तीनों अंगों के बीच परिचालन तालमेल और संयुक्त रूप से युद्ध लड़ने की क्षमताओं को बढ़ाने का उद्देश्य भी शामिल था।
 

इस अभ्यास में उभयचर लड़ाकू युद्धपोतों, निगरानी प्लेटफार्मों, समुद्र में हवाई हमले तथा जटिल युद्धाभ्यास द्वारा बहुआयामी सामुद्रिक ऑपेरशन शामिल थे। हवा से नौसेना के समुद्री कमांडोज़ का प्रवेश, सेना के विशेष बलों की हवाई प्रविष्टि, नौसेना का गनफायर सपोर्ट, ज़मीन, आकाश और जल से सैन्य बलों लैंडिंग एवं इसके बाद किए जाने वाले अनुवर्ती ऑपरेशन भी शामिल थे।
 

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की रक्षा के लिए कवच युद्धाभ्यास भी एम्फैक्स - 21 के भाग के रूप में आयोजित किया गया। एकीकृत मुख्यालय स्टाफ के तत्वावधान में एक संयुक्त आसूचना, निगरानी और टोही अभ्यास भी एक साथ चलाया गया ताकि कई संवेदकों का इस्तेमाल कर समुद्री डोमेन जागरूकता को प्राप्त किया जा सके।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS