ब्रेकिंग न्यूज़
केविवि की स्नातक उत्तीर्ण और परास्नातक छात्राओं को मिलेगा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का लाभ, एकमुश्त 25000 की मिल सकती है राशिसड़क हादसे में शिक्षिका गंभीर रूप से घायल, प्राथमिक उपचार के बाद बेतिया रेफरसांसद डॉक्टर संजय जयसवाल ने उच्च स्तरीय बैठक में नेपाल बॉर्डर पर उठ रही समस्याओं के समाधान पर विचार विमर्श कियाअजय कुमार भल्ला बने नए गृह सचिव, मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने दी मंजूरीमनसे प्रमुख राज ठाकरे पूछताछ के लिए पहुंचे ईडी दफ्तर, दफ्तर के बाहर धारा-144हजारों के तादाद में युवक-युवतियां, महिलाओं समेत आम जनों ने ली भाजपा की सदस्यताआशीष परियोजना डंकन अस्पताल रक्सौल के द्वारा पनटोका पंचायत भवन के प्रांगण में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजनएक दिवसीय प्रखंड स्तरीय कृषि समन्यवय कार्यक्रम रक्सौल के कृषि भवन में आयोजित, योजनाओं के बारे में किसानों को दी जानकारी
राष्ट्रीय
पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर बीएसएफ और पाकिस्तानी रेंजर्स के बीच नहीं हुआ मिठाइयों का आदान-प्रदान
By Deshwani | Publish Date: 14/8/2019 5:36:13 PM
पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर बीएसएफ और पाकिस्तानी रेंजर्स के बीच नहीं हुआ मिठाइयों का आदान-प्रदान

जोधपुर। जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों में तल्खी बढ़ती ही जा रही है। ईद-उल-अजहा के बाद अब पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस (14 अगस्त) के मौके पर दोनों देशों के बीच मिठाइयों का आदान-प्रदान नहीं किया गया। राजस्थान के जैसलमेर से लगती पाकिस्तान की सीमा पर बीएसएफ और पाकिस्तानी रेंजर्स के बीच मिठाइयों को आदान-प्रदान नहीं किया है। उधर अटारी-बाघा स्थित भारत-पाकिस्तान सीमा पर भी बीएसएफ और पाकिस्तानी रेंजर्स ने एक-दूसरे को मिठाई नहीं दी।

 
बीएसएफ के राजस्थान फ्रंटियर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज बताया कि पाकिस्तान सरकार किसी प्रकार की सद्भावना नहीं दिखा रही है। ऐसे में सीमा पर मिठाई के आदान-प्रदान का कोई औचित्य नहीं रह जाता। हमने इस बार ईद और पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर पाकिस्तानी रेंजर्स को न तो शुभकामनाएं दीं और न ही मिठाइयों का आदान-प्रदान किया। 
 
उल्लेखनीय है कि ईद-उल-अजहा पर सोमवार को अटारी-वाघा स्थित भारत-पाकिस्तान सीमा पर बीएसएफ के जवानों ने पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई ऑफर की थी, लेकिन पाकिस्तानी रेंजरों ने इसे लेने से मना कर दिया था। इससे पहले पाकिस्तान ने समझौता और थार एक्सप्रेस के साथ लाहौर बस सेवा को बंद कर दिया था। 
 
सीमा पर होली-दीपावली और ईद के अलावा दोनों देशों के स्वतंत्रता दिवस पर बीएसएफ और पाकिस्तानी रेंजर्स एक-दूसरे को मिठाइयों का आदान-प्रदान करते हुए शुभकामनाएं देते हैं, लेकिन अनुच्छेद-370 के निष्प्रभावी बनाने के बाद से पाकिस्तान बौखला गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS