ब्रेकिंग न्यूज़
चाकू से घायल मोतिहारी, चांदमारी के युवक की मौत, मझौलिया निवासी आरोपित हमलावर को लोगों ने दबोचाबिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा- सातवें चरण की शिक्षक भर्ती अगले महीने होगी शुरूरक्सौल: आईसीपी लिंक रोड का उच्चाधिकारियों ने किया निरीक्षणबिहार: राज्य के आधे जिलों में बिजली गिरने के साथ भारी बारिश की संभावना, अगले 24 घंटे का अलर्टप्रधानमंत्री ने विद्युत क्षेत्र की पुनर्विकसित वितरण क्षेत्र योजना का शुभारम्भ कियातेजी से फैल रहा मंकीपॉक्स वायरसआयकर विभाग ने मुंबई में तलाशी अभियान चलाया64 प्रतिशत वोटों के साथ द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं, अब तक की सबसे कम उम्र व पहली जनजातीय महिला राष्‍ट्रपति चुनी गईं
राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री ने विद्युत क्षेत्र की पुनर्विकसित वितरण क्षेत्र योजना का शुभारम्भ किया
By Deshwani | Publish Date: 31/7/2022 11:54:01 AM
प्रधानमंत्री ने विद्युत क्षेत्र की पुनर्विकसित वितरण क्षेत्र योजना का शुभारम्भ किया

दिल्ली प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज 'उज्ज्वल भारत उज्ज्वल भविष्य – पावर@2047' के समापन के अवसर पर हुए ग्रैंड फिनाले में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भाग लिया। प्रधानमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के साथ संवाद किया। प्रधानमंत्री ने खोवाई, त्रिपुरा के मंडी के श्री हंसराज, रियांग के श्री कलाहा, वाराणसी की श्रीमती प्रमिला देवी और अहमदाबाद के श्री धीरेन सुरेशभाई पटेल के साथ संवाद किया। वे क्रमशः कुसुम, सौर ऊर्जा, डीजीयूजीजेवाई, आईपीडीएस और सौर पैनलों के लाभार्थी हैं।

 
 
 
 
इस कार्यक्रम में केंद्रीय विद्युत और एनआरई मंत्री श्री आर के सिंह, विद्युत एवं भारी उद्योग राज्य मंत्री श्री किशन पाल गुर्जर उपस्थित रहे। एमएनआरई राज्य मंत्री श्री भगवंत खुबा वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए। इस कार्यक्रम में 12 मुख्यमंत्री, 5 केंद्रीय मंत्री, 3 उप मुख्यमंत्री, 3 उप राज्यपाल, 27 राज्य मंत्री और 81 अन्य गणमान्य नागरिक शामिल हुए। इसके अलावा एमएनआरई सचिव श्री इंदु शेखर चतुर्वेदी, विद्युत सचिव श्री आलोक कुमार, आरईसी लिमिटेड के सीएमडी श्री विवेक देवांगन, एनटीपीसी के सीएमडी श्री गुरदीप सिंह, आरईसी लि‍मिटेड के सीईओ श्री आर लक्ष्मणन और विद्युत मंत्रालय में जेएस श्री विशाल कपूर कार्यक्रम में शामिल हुए। उज्ज्वल भारत उज्ज्वल भविष्य का ग्रांड फिनाले राष्ट्रीय स्तर के समारोह के रूप में आयोजित किया गया, जिससे देश के 100 से ज्यादा जिलों के प्रतिभागियों और लाभार्थियों ने वर्चुअल माध्यम से जुड़े रहे।
 
 
 
 
प्रधानमंत्री ने विद्युत मंत्रालय की पुनर्विकसित वितरण क्षेत्र योजना का शुभारम्भ किया, जिसका उद्देश्य वितरण कंपनियों की परिचालन दक्षताओं और वित्तीय स्थायित्व में सुधार करना है। वित्त वर्ष 2021-22 से वित्त वर्ष 2025-26 तक पांच साल की अवधि के लिए 3,03,758 करोड़ रुपये के बजट के साथ, इस योजना का उद्देश्य उपभोक्ताओं को आपूर्ति की विश्वसनीयता और गुणवत्ता में सुधार के उद्देश्य से वितरण इन्फ्रास्ट्रक्चर के आधुनिकीकरण और मजबूती के लिए डिस्कॉम्स को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना है। इसमें देश भर के उपभोक्ताओं को 25 करोड़ स्मार्ट प्रीपेड मीटर उपलब्ध कराने का प्रस्ताव भी किया गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS