ब्रेकिंग न्यूज़
बाबरी ढांचा विध्वंस केस: कोर्ट ने सभी आरोपियों को किया बरी- मस्जिद विध्वंस सुनियोजित नहीं थीCoronavirus in India: कोरोना से कुल 97 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान, 24 घंटे में 80 हजार नए मामलेहाथरस गैंगरेप मामले की जांच के लिए मुख्यमंत्री योगी ने गठित की एसआईटी, फास्‍ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा मुकदमाकमजोर कारोबारी रुझानों के चलते सेंसेक्स 100 अंक टूटा, निफ्टी में भी गिरावट के साथ कारोबारकमजोर कारोबारी रुझानों के चलते सेंसेक्स 100 अंक टूटा, निफ्टी में भी गिरावट के साथ कारोबारकुवैत के क्राउन प्रिंस शेख सबा अल अहमद का निधन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया शोकउपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव, खुद को किया होम क्वारंटीनड्रग्स मामला: रिया-शौविक की जमानत याचिका पर सुनवाई पूरी, बॉम्बे हाई कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित
राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को नवंबर तक बढाने की मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी
By Deshwani | Publish Date: 9/7/2020 1:08:09 PM
प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को नवंबर तक बढाने की मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी

नई दिल्ली केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्‍न योजना की अवधि पांच महीने और बढ़ाने को मंजूरी दे दी है। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज नई दिल्‍ली में बताया कि इस योजना के अन्‍तर्गत लाभार्थी परिवार के प्रत्येक सदस्य को पांच किलोग्राम गेहूं या चावल और प्रत्येक परिवार को एक किलोग्राम चना पांच महीने के लिए दिया जाएगा। उन्‍होंने बताया कि इस योजना से देश के करीब 80 करोड़ लोगों को लाभ होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने की 30 तारीख को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में इस योजना की अवधि बढ़ाये जाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि देश में गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति भूखे नहीं रहेंगे और मौजूदा कोविड महामारी के समय बारिश और आने वाले त्योहारों के मौसम के दौरान उन्‍हें मुफ्त राशन प्रदान किया जाएगा।

 
 
 
 
वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन ने देशव्यापी लॉकडाउन शुरू होने के तुरंत बाद योजना के पहले चरण की घोषणा की थी। पहले चरण के तहत इस साल अप्रैल से तीन महीने के लिए मुफ्त अनाज उपलब्ध कराया गया था। दूसरा चरण, पहली जुलाई से शुरू होकर 30 नवंबर तक चलेगा। इस चरण के दौरान दो सौ लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं-चावल और 9 लाख 78 हजार मीट्रिक टन चना वितरित किया जाएगा। प्रधानमंत्री ग्रामीण कल्याण अन्‍न योजना पर लगभग एक लाख 50 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS