राष्ट्रीय
आर्मी की नई गाइडलाइन, जवान अब नहीं करेंगे नौकरों जैसा काम
By Deshwani | Publish Date: 11/7/2018 4:35:12 PM
आर्मी की नई गाइडलाइन, जवान अब नहीं करेंगे नौकरों जैसा काम

 नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने 12 लाख सेना समेत आर्मी से रिटायर हो चुके अधिकारियों के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। नई गाइडलाइन के तहत सीएसडी शराब और आर्मी कैंटीन को गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर भी सख्त हिदायत दी गई है। रावत ने कहा कि अब किसी भी फौजी से नौकरों (अर्दलियों) जैसा काम नहीं कराया जाएगा। बता दें इस पर काफी बार मुद्दा उठ चुका है कि कई जवानों से अर्दलियों का काम लिया जाता है। जो बड़े अधिकारियों के घर का हर काम देखते हैं।

 
अगर कोई अधिकारी किसी भी रूप से भ्रष्टाचार जैसे मामलों से जुड़े है तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। भले ही फिरो वो किसी भी पोस्ट और रैंक पर हो।
 
अब किसी भी रेजीमेंट या स्टेशन में हो रही अजीबो-गरीब चीजें बर्दाश्त नहीं की जाएंगी।
 
सीएसडी शराब और किराने के सामान का दुरुपयोग करते पाया गया, उसके खिलाफ शख्त कार्यवाई की जाएगी।
 
सैनिकों को मिलने वाले खाने में पूड़ी, पकौड़ा और मीठे पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। इसके बदले अब सैनिकों हेल्दी खाना दिया जाएगा। सेना के आंतरिक स्वास्थ्य को सुधारने के लिए कई चीजों में बदलाव किया गया है।
 
रावत द्वारा जारी की गई की इस नई गाइडलाइन पर एक वरिष्ठ आर्मी अधिकारी ने कहा कि जवानों का फिटनेस स्टैंडर्ड लगातार गिर रहा है जिस वजह से यह जरूरी कदम उठाए गए हैं। उल्लेखनीय है कि ज्यादातर यही माना जाता है कि सेना में अनुशासन उच्च स्तर पर है और भ्रष्टाचार बहुत कम। फौजी अनुशासन में रहकर ही हर काम करते हैं यहां तक कि वहां खाने को भी बहुत कम बर्बाद किया जाता है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS