ब्रेकिंग न्यूज़
दिग्‍व‍िजय भोपाल से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, 30 साल से यहां जीत नहीं पाई है कांग्रेसराम मनोहर लोहिया का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशानासुरक्षाबलों को सर्च अभियान के दौरान मिली सफलता, भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियार बरामदहाइवा की चपेट में आने से युवक की मौत, विरोध में लोगों ने किया सड़क जामकांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन में किसान का कर्जा होगा माफ: राहुल गांधीआईपीएल 2019: आईपीएल के शुरुआती 6 मैचों में नहीं खेलेंगे लसिथ मलिंगा, सामने आई ये वजहमणिकर्णिका' के बाद कंगना का बड़ा धमाका, जयललिता की बायोपिक से जुड़ा नामकरमबीर सिंह होंगे अगले नौसेना प्रमुख, सुनील लांबा 31 मई को हो रहे हैं रिटायर
राज्य
नम आंखों से हजारों लोगों ने शहीद मेजर ढौंडियाल को दी विदाई, गंगा तट पर हुआ अंतिम संस्कार
By Deshwani | Publish Date: 19/2/2019 5:27:42 PM
नम आंखों से हजारों लोगों ने शहीद मेजर ढौंडियाल को दी विदाई, गंगा तट पर हुआ अंतिम संस्कार

देहरादून। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों के साथ संघर्ष में शहीद हुए मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल को आज हरिद्बार में गंगा तट पर हुए अंतिम संस्कार में हजारों लोग उमड़ पड़े। खरखरी श्मशान घाट पर हुए दाह संस्कार में उन्हें पूरे राजकीय सम्मान के साथ विदाई दी गई। उनके चाचा जगदीश ढौंडियाल ने शहीद की चिता को अग्नि दी।

 
राज्य के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, मसूरी के विधायक गणेश जोशी, कांग्रेस की प्रदेश इकाई के प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह , धारचूला के कांग्रेस विधायक हरीश धामी और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने उन्हें भावभीनी विदाई दी। इससे पहले देहरादून स्थित उनके आवास पर हजारों लोगों ने आज अपनी अंतिम श्रद्धांजलि दी।
 
अंतिम संस्कार के लिए हरिद्वार ले जाने से पहले मेजर ढौंडियाल के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। इस दौरान हृदय रोगी उनकी मां सरोज, पत्नी निकिता कौल और उनके रिश्तेदारों एवं मित्रों के लिए खुद को संभालना मुश्किल हो गया। मेजर ढौंडियाल की शादी हुए एक साल भी नहीं हुआ है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भी वहां पहुंच कर शहीद ढौंडियाल अमर रहे और वंदे मातरम के नारों के बीच उनके पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र चढ़ाया।
 
तिरंगे में लिपटा हुआ ढौंडियाल का पार्थिव शरीर सोमवार को देर रात घर लाया गया था। मेजर ढौंडियाल की शहादत की खबर सोमवार को उस समय आई जब हरिद्बार में मेजर चित्रेश बिष्ट का अंतिम संस्कार किया जा रहा था। देहरादून निवासी मेजर बिष्ट राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास एक बारूदी सुरंग को निष्क्रिय करने के दौरान शहीद हो गए थे।
 
मेजर ढौंडियाल को अंतिम श्रद्धांजलि देने वाले प्रमुख लोगों में कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, पूर्व सांसद तरूण विजय, राज्य विधानसभा के अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, भाजपा के विधायक गणेश जोशी और देहरादून के महापौर सुनील उनियाल गामा शामिल थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS