ब्रेकिंग न्यूज़
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा-जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं, के मंत्र का पूरी तरह पालन करना आवश्‍यकरक्सौल: पुरेन्दरा पंचायत के मुखिया ने हथियार से प्रहार कर एक व्यक्ति को गंभीर रुप से किया घायलमोतिहारी सेन्ट्रल बैंक रिजनल कार्यालय में भीषण आग, 4 घंटे के मशक्कत के बाद रात 8 बजे आग पर काबूचनपटिया, बेतिया और नौतन विधानसभा क्षेत्र में शांतिपूर्ण मतदान को प्रशासन पूरी तरह तैयार : कुंदन कुमारएनडीए के प्रत्याशी प्रमोद सिन्हा ने कहा:-अशोक सिन्हा के वीरगंज नेपाल स्थित घर से भारी मात्रा मे सोना बरामदगी की घटना से मेरा कोई सरोकार नहींरक्सौल पुलिस ने 36 लाख के चरस के साथ युवक को किया गिरफ्तारभारत-नेपाल सीमा: दशहरा पर्व मे नही खुलेगा बोर्डर, 17 को बोर्डर खुलने का खबर भ्रामकसमय रहते अगर सर्तक नहीं हुए तो आम हो जायेगी स्‍तन कैंसर बीमारी : डॉ वी पी सिंह
राज्य
गैंगरेप पीड़िता के भाई ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप, आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग की
By Deshwani | Publish Date: 29/9/2020 5:23:40 PM
गैंगरेप पीड़िता के भाई ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप, आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग की

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप की शिकार युवती ने दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया हैं। पीड़िता पिछले दो हफ्ते से अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती थी, वहां हालत में कोई सुधार नहीं होने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इस मामले में चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
 
वहीं पीड़िता के भाई ने यूपी पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन की तरफ से 14 सितंबर के तुरंत बाद आरोपियों के ऊपर कड़ी कार्यवाही नहीं की गई, जबकि हमने बताया था कि आरोपी पड़ोस के गांव के हैं फिर भी 20-22 तारीख तक का इंतजार किया गया। मृतका दलित युवती के भाई ने ये भी कहा कि हाथरस और अलीगढ़ में हमारी बहन को ठीक से इलाज नहीं मिला। अगर उत्तर प्रदेश में अच्छा इलाज मिला होता तो आज हमारी बहन हमारे साथ जीवित होती।
 
पीड़िता के भाई ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश, दिल्ली और केंद्रीय महिला आयोग की तरफ से अभी हमारे पास कोई फोन नहीं आया. महिला आयोग ने इस मामले की सुध तक नहीं ली हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील करते हैं कि चारों आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए, आरोपियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए।
 
 
वहीं पीड़िता की मां और और उनके भाई ने ये भी बयान दिया कि दोनों परिवारों के बीच काफी पुरानी रंजिश है, मुकदमा भी चला है। इस बार की घटना में संदीप नाम का लड़का अकेला था उसने पुरानी रंजिश में गला दबाकर मारने की कोशिश की। उसके साथ कोई और नहीं था, वो अकेला था। तहरीर में भी लड़की के परिवार वालों ने हत्या के प्रयास का ही आरोप लगाया और इसी के आधार पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज हुआ।
 
बता दें कि वहशियों की दरिंदगी की शिकार पीड़िता की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई। पीड़िता पिछले दो हफ्ते से अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती थी। वहां हालत में कोई सुधार नहीं होने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। पीड़िता ने मजिस्ट्रेट को दिए अपने बयान में कहा था कि चार युवकों ने उनके साथ गैंगरेप किया और विरोध करने पर उसका गला घोंटने की कोशिश की, जिसमें पीड़िता की जीभ कट गई थी।
 
पीड़िता ने चारों आरोपियों की पहचान संदीप, रामू, लवकुश और रवि के रूप में की थी। पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि संदीप को घटना के दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में रामू और लवकुश को भी गिरफ्तार किया गया और शनिवार को चौथे आरोपी रवि को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। चारों आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS