ब्रेकिंग न्यूज़
बेखौफ अपराधियों का कहर, दिनदहाड़े पुलिसकर्मी को गोली से भूना, कार्बाइन ले भागेएमजंक्शन अवार्ड्स में अडानी ग्रुप को मिला सर्वश्रेष्ठ कोयला सर्विस प्रोवाइडर का पुरस्कारटी20 विश्व कप के लिये युवाओं के पास मनोबल बढ़ाने का बेहतरीन मंच: शिखर धवनबिपाशा के बॉलीवुड में 18 साल, 'अजनबी' से की थी बॉलीवुड करियर की शुरुआतराष्ट्रपति ट्रंप का बड़ा फैसला, सऊदी अरब और UAE में तैनात होगी अमेरिकी सेनाउत्तर प्रदेश: पटाखा फैक्टरी में भीषण विस्फोट, 6 लोगों की मौत, कई घायलहरियाणा व महाराष्ट्र के बाद अब झारखंड में विधानसभा चुनाव की तारीख का इंतजारएक लोकसभा सीट समेत बिहार की पांच विधानसभा सीटों पर उपचुनाव 21 अक्तूबर को, 24 को होगी मतगणना
मोतिहारी
सूचना एवं प्रौद्योगिकी के जनक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 75वीं जन्मोदिवस पर मरीजों के बीच बांटे गये फल
By Deshwani | Publish Date: 20/8/2019 4:50:44 PM
सूचना एवं प्रौद्योगिकी के जनक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 75वीं जन्मोदिवस पर मरीजों के बीच बांटे गये फल

रक्सौल। मंगलवार को शहर के सुन्दरपुर स्थित द लिटिल फ्लावर लेप्रोसी हास्पिटल में भारत-रत्न पूर्व युवातुर्क प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 75वीं जन्मोदिवस पर रक्सौल युवा कांग्रेस के बैनर तले बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के महासचिव सह गोपालगंज प्रभारी प्रो.अखिलेश दयाल के नेतृत्व में 125 कुष्ठ रोगियों के बीच फल वितरण किया गया।

 
 
प्रदेश महासचिव ने पूर्व प्रधानमंत्री के महान चरितार्थ पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 1984 के आम चुनाव में भारतीय लोकतंत्र के ऐतिहासिक 414 सीट लाकर एक कीर्तिमान स्थापित किया। पांच वर्षों का कार्यकाल भारतीय इतिहास के लिये स्वर्णिम काल रहा। पंचायती राज की व्यवस्था, 18 वर्ष के युवाओं को मतदान करने का अधिकार, राजीव गांधी ग्रामीण विधुतीकरण योजना, संचार एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र मे क्रांति, कम्प्यूटर युग की शुरुआत, इन्दिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय की स्थापना, देश की आतंरिक एवं बाहृय सामरिक सुरक्षा की मजबूती, सुदुर ग्रामीण क्षेत्रों में दूरसंचार का विस्तारीकरण, टीवी, मोबाईल एवं तकनीकी शिक्षा को बढावा, इत्यादि कार्य सराहनीय है। 
 
प्रदेश महासचिव ने कहा कि आज जो वर्तमान भाजपा सरकार डिजिटल इंडिया का नारा बुलंद कर रही है। इसका श्रेय पूर्व युवातुर्क प्रधानमंत्री राजीव गांधी को जाता है क्योंकि जब 20 वीं सदी के अंतिम समय में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने भारत में कम्प्यूटर क्रांति लाने का काम किया तो भाजपा और गैरकांग्रेसी दलों ने बैलगाड़ी यात्रा निकालकर देश के युवाओं को गुमराह करने के लिए बायान जारी किया कि भारत अब 18 वीं सदी मे चला जाएगा।
 
 
लेकिन आज जो 21 वीं सदी में डिजिटल इंडिया भारत में दिख रहा है इसमें सबसे बङा योगदान भारत-रत्न पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का है।देशहित के प्रति अपने प्राणों को न्योछावर करनेवाले महान विभूति में एक राजीव गांधी है क्योंकि उनकी सोच राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से मिलती थी उनका कहना था देश के युवाओ के हाथ में देश के सत्ता की बागडोर हो युवावर्ग शिक्षा के साथ रोजगार को प्राप्त करे तभी नये भारत का निर्माण हो सकता है और महात्मा गांधी के सपने सकार हो सकते है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS