ब्रेकिंग न्यूज़
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की आतंकवाद को अपनी कार्य नीति का हिस्सा बना लिया पाकिस्तानसरकार अर्थव्‍यवस्‍था को फिर से पटरी पर लाने के लिए और उपाय कर रही: निर्मला सीतारमन्कुशीनगर में बुद्ध महापरिनिर्वाण मंदिर के समीप नया गेट बनवाने पर कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्जजन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष गौतम आनंद को किया गया बर्खास्‍तझारखंड विधानसभा चुनाव: दूसरे चरण की 20 सीटों पर मतदान जारीबिहार में बलात्‍कारियों को गोली मारने वालों को पप्‍पू यादव देंगे 5 लाख, कहा-हैदराबाद एनकाउंटर टीम को देंगे 50-50 हजारभारत ने आज 13वें दक्षिण एशिया खेलों में 2 स्वर्ण सहित 12 पदक जीतेपॉक्‍सो अधिनियम के तहत दोषियों के लिए नहीं होना चाहिए दया याचिका का प्रावधान: रामनाथ कोविंद
मोतिहारी
एमओ अरविंद कुमार ने दी पीओएस मशीन के बारे में उपभोक्ताओं को जानकारी
By Deshwani | Publish Date: 21/11/2019 6:32:58 PM
एमओ अरविंद कुमार ने दी पीओएस मशीन के बारे में उपभोक्ताओं को जानकारी

रक्सौल।अनिल कुमार। अनुमंडल के सभागार में रक्सौल नगरपरिषद, लक्ष्मीपुर, लक्ष्मनवा, हरदिया पंचायत के उपभोक्ताओ को पीओएस मशीन के बारे में एमओ अरविंद कुमार के द्वारा जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि अब जिनका राशन कार्ड में नाम है वही राशन ले सकते है। अगर कोई चाहे की मेरा राशन पड़ोसी उठा कर ला दे वो अब नही होगा। जिनका भी परिवारी सूची में सदस्य का नाम छूटा है वो जल्द आधार अपने डीलर के पास जमा करा दे। जो जमा नही करेंगे उन्हें अगले महीने से अनाज नही मिल सकेगा।

 
डीलर के ना रहने पर भी उपभोक्ता कर सकते है आनाज का उठाव
एमओ ने बताया कि डीलर के घर के दो सदस्य का आधार पीओएस मशीन के अटैच रहेगा। किसी कारण वश डीलर अनाज बाटने के क्रम में उपस्थित नही रहा तो उनके घर के सदस्य आनाज वितरण कर सकते है। राशन कार्ड पास में नही रहने के बावजूद भी उपभोक्ता राशन का उठाव कर सकते है। बस उनके पास आधार कार्ड रहना चाहिए।
 
आधार कार्ड से भी राशन का उठाव 
उन्होंने कहा कि किसी उपभोक्ता का फिंगर प्रिंट नही हो पा रहा है तो ऐसी स्थिति में उसके लिए आई स्कैनर के द्वारा मिलान कर राशन डीलर देंगे। एमओ ने बताया कि पीओएस मशीन सभी जन वितरण प्रणाली को दे दिया गया है अगले महीने (दिसंबर) से सभी जन वितरण प्रणाली के द्वारा पीओएस मशीन के द्वारा राशन वितरण किया जाएगा।
 
फर्जी राशन कार्ड पर लगेगी रोक
प्रखंड व नगर क्षेत्र में फर्जी राशन कार्ड धारकों का मामला कई बार सामने आया है। डीलर व दलालों की मिलीभगत से खाद्यान्न की कालाबाजारी की जाती थी। इसपर रोक लगने की संभावना बन गई है।                               
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS