ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए प्रचार अभियान जोरों परभारतीय नौसेना के प्रमुख युद्धक पोतों की संचालन और युद्धक तैयारियों की नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने की समीक्षाताइवान को लगभग एक अरब 80 करोड़ डॉलर मूल्‍य की हथियार प्रणालियां बेचने को अमरीकी विदेश मंत्रालय ने दी मंजूरीबिरगंज के गहवा माई मन्दिर में शारदीय नवरात्र के सातवे रोज माता दुर्गा की निकली डोली"जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं", मास्क और सैनिटाइजर का हमेशा उपयोग करें : जिला निर्वाची पदाधिकारीनेपाल के बारा जिला में अवैध पिस्टल के साथ एक गिरफ्तारप्रधानमंत्री की चुनावी रैली की तैयारी का जायजा लेने मोतिहारी पहुंचे बिहार चुनाव प्रभारी सह पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीससात माह लंबे इंतजार के बाद खुला भारत-नेपाल बॉर्डर
मनोरंजन
मशहूर गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, 74 साल की उम्र में ली आखिरी सांस
By Deshwani | Publish Date: 25/9/2020 2:17:45 PM
मशहूर गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, 74 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

चैन्ने। बॉलीवुड के दिग्गज गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन हो गया है। उनके निधन की खबर को बेटे ने कंफर्म किया है। उनकी उम्र 74 साल थी। बालासुब्रमण्यम कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद 5 अगस्त से अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल ने गुरुवार को बयान जारी कर कहा कि उनकी हालत बहुत ही ज्यादा गंभीर हो गई है। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। अस्पताल मे बताया था की उनकी हालत बिगड़ती ही जा रही थी।

 
एस. पी बालासुब्रह्मण्यम ने हिंदी फिल्मों की गायिकी में भी अपनी एक अलग पहचान स्थापित की। 1989 में आई सलमान खान-भाग्यश्री स्टारर की सुपरहिट फिल्म 'मैंने प्यार किया' में सलमान खान के सभी गाने एसपी बालासुब्रह्मण्यम ने गाये थे, जो सुपरहिट साबित हुए थे। उसके बाद उन्होंने सलमान के करियर के शुरुआती दिनों के सभी गाने गाये और कई सालों तक सलमान खान की आवाज के तौर पर भी जाना जाता रहा। इसके बाद भी एस. पी. बालासुब्रह्मण्यम ने कई हिंदी फिल्मों में विभिन्न सितारों के लिए अपनी आवाज दी। 
 
माना जाता है कि एसपी बालासुब्रह्मण्यम ने अब तक कुल 16 भाषाओं में 40,000 से भी ज्यादा गाने गाये हैं और उन्हें चार भाषाओं - तेलुगू, तमिल, कन्नड़ और हिंदी गानों के लिए 6 बार सर्वश्रेष्ठ गायक के तौर पर राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। उन्हें भारत सरकार की ओर से 2001 में पद्मश्री और 2011 में पद्मभूषण पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS