ब्रेकिंग न्यूज़
केविवि की स्नातक उत्तीर्ण और परास्नातक छात्राओं को मिलेगा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का लाभ, एकमुश्त 25000 की मिल सकती है राशिसड़क हादसे में शिक्षिका गंभीर रूप से घायल, प्राथमिक उपचार के बाद बेतिया रेफरसांसद डॉक्टर संजय जयसवाल ने उच्च स्तरीय बैठक में नेपाल बॉर्डर पर उठ रही समस्याओं के समाधान पर विचार विमर्श कियाअजय कुमार भल्ला बने नए गृह सचिव, मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने दी मंजूरीमनसे प्रमुख राज ठाकरे पूछताछ के लिए पहुंचे ईडी दफ्तर, दफ्तर के बाहर धारा-144हजारों के तादाद में युवक-युवतियां, महिलाओं समेत आम जनों ने ली भाजपा की सदस्यताआशीष परियोजना डंकन अस्पताल रक्सौल के द्वारा पनटोका पंचायत भवन के प्रांगण में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजनएक दिवसीय प्रखंड स्तरीय कृषि समन्यवय कार्यक्रम रक्सौल के कृषि भवन में आयोजित, योजनाओं के बारे में किसानों को दी जानकारी
बिहार
मॉनसून सत्र: मॉब लिचिंग को लेकर बिहार विधानसभा में हंगामा, कार्यवाही स्थगित
By Deshwani | Publish Date: 22/7/2019 3:15:27 PM
मॉनसून सत्र: मॉब लिचिंग को लेकर बिहार विधानसभा में हंगामा, कार्यवाही स्थगित

पटना। विधानसभा में आज विपक्षी दलों के सदस्यों ने छपरा मॉब लिचिंग के मुद्दे पर जमकर हंगामा किया, जिसके कारण सदन की कार्यवाही निर्धारित समय से पूर्व ही स्थगित करनी पड़ी। विधानसभा की कार्यवाही सुबह 11 बजे शुरू होते ही भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी लेनिनवादी (भाकपा-माले) के सत्यदेव राम ने मॉब लिचिंग का मामला सदन में उठाने की कोशिश की। सभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने इसकी इजाजत नहीं दी और कहा कि तय समय पर इस मामले को उठाएं। अभी प्रश्नकाल चलने दें।

 
इस पर राजद के ललित कुमार यादव ने सभाध्यक्ष चौधरी से उनकी बातें सुन लेने का आग्रह करते हुए कहा कि मॉब लिचिंग का मामला बेहद गंभीर है। यदि आप इस बात की गंभीरता को समझते हैं तो इसे समय पर उठाना उपर्युक्त होगा। अभी प्रश्नकाल का समय है इसे बर्बाद ना करें। राजद के भाई वीरेंद्र ने कहा कि सदस्य सिर्फ प्रश्न के लिए सदन में नहीं आते हैं। यह मामला गंभीर है, इस पर सदन में तुरंत चर्चा होनी चाहिए। इस पर सभा अध्यक्ष ने कहा कि किसी ने नहीं कहा कि सदस्य सिर्फ प्रश्न पूछने के लिए सदन में आते हैं। सदन में महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा होती है, लेकिन पिछले दिनों ही विधि-व्यवस्था पर तीन घंटे चर्चा हुई थी। राजद के शिवचंद्र राम और समीर कुमार महासेठ तथा कांग्रेस के अवधेश कुमार सिंह के साथ विपक्ष के अन्य सदस्य मॉब लिचिंग के मामले पर सदन में चर्चा कराने की मांग को लेकर सदन के बीच में आ गए और शोर मचाने लगे।
 
विपक्षी दल 'मॉब लिचिंग पर रोक लगाओ, छपरा मॉब लिचिंग मामले की सीबीआई से जांच कराओं' के नारे लगा रहे थे। शोरगुल के बीच ही संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि सरकार सभी सदस्यों को अपनी बात कहने का पर्याप्त मौका दे रही है और सरकार भी हर बात का जवाब देने के लिए तैयार है। इसके बावजूद विपक्ष के सदस्य जानबूझकर सदन की कार्यवाही को बाधित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शून्यकाल में भी महत्वपूर्ण विषयों को कई सदस्य उठाने वाले हैं, लेकिन विपक्ष के सदस्य हंगामा कर सदन को चलने नहीं देना चाहते हैं। सभाध्यक्ष चौधरी ने सदन को अव्यवस्थित देख सभा की कार्यवाही 12:07 मिनट पर स्थगित कर दी। हंगामे के कारण शून्यकाल और ध्यानाकर्षण नहीं हो सका।
 
गौरतलब है कि सारण जिले में बनियापुर थाना क्षेत्र के पिठौरी नंदलाल टोला में गत 18 जुलाई की देर रात मवेशी चोरी के आरोप में ग्रामीणों ने तीन लोगों की जमकर पिटाई कर दी, जिससे दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक अन्य ने अस्पताल ले जाने के दौरान दम तोड़ दिया था। इस मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 8 नामजद अभियुक्तों में से सात को 19 जुलाई को गिरफ्तार किया था।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS