ब्रेकिंग न्यूज़
बीरगंज में नेपाल पुलिस ने छापेमारी कर तस्करी के 6 भैंस के साथ तीन लोगों को किया गिरफ्तारदिव्या शक्ति ने पहले प्रयास में ही सिविल सर्विस परीक्षा में मारी बाजीबांग्लादेश: पिछले 24 घंटे में बाढ़ की स्थिति में हुआ सुधारअयोध्या राम मंदिर: कल होने वाले भूमि पूजन को लेकर भव्य तैयारीदेश में कोरोना वायरस से 12 लाख 30 हजार 500 से अधिक रोगी हुए स्वस्थकोविड-19 पाॅजिटिव मरीजों को हर हाल में मुहैया करायें मेडिसिन किट्स: डीएमबेतिया के गली-नाली पक्कीकरण योजनान्तर्गत पेवर ब्लाॅक का करें इस्तेमाल: जिलाधिकारीमोतिहारी डीएम ने कहा - कोविड-19 सैंपलिंग में प्रगति नहीं तो होगी कार्रवाई, अनुपस्थित लैब टेक्नीशियन व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का रुकेगा वेतन
बिहार
मोतिहारी में एनएच 28 पर जय माता दी बस की चपेट में आए दो लोग, वाटगंज के मेडिकल प्रैक्टिसनर व भतीजे की मौत, बारिश में छतरी लगाकर राजमार्ग जाम
By Deshwani | Publish Date: 4/7/2020 5:07:27 PM
मोतिहारी में एनएच 28 पर जय माता दी बस की चपेट में आए दो लोग, वाटगंज के मेडिकल प्रैक्टिसनर व भतीजे की मौत, बारिश में छतरी लगाकर राजमार्ग जाम

मोतिहारी माला सिन्हा। पीपराकोठी से माला सिन्हा की रिपोर्ट। पूर्वी चम्पारण में  पीपराकोठी थाना क्षेत्र के राजमार्ग 28, वाटगंज चौक पर शनिवार को करीब 10 बजे एक अनियंत्रित बस की चपेट में दो लोग आ गए हैं। जिसमें वाटगंज के मेडिकल प्रैक्टिशनर डॉ रूपलाल चौधरी व उनके भतीजे मिथिलेश की घटनास्थल पर ही मौत हो गई है।

 

बतया गया है कि यह दुर्घटना जयमाता दी बस से हुई है। इस बस को घेरकर लोगों ने क्षतिग्रस्त कर दिया है। वहीं तेज बारिश के बावजूद इस भीषण दुर्घटना से गुस्साए लोग दोनों शवों को सड़क पर रख दिया है और छाता लगाकर एनच 28 को जाम कर दिया है।

विधायक श्याम बाबू यादव, सीओ व पीपराकोठी थानाध्यक्ष घटनास्थल पर लोगों को समझा बुझाकर जाम हटवाने का प्रयास कर रहे हैं।


मिली जानकारी के अनुासर आज करीब 10 बजे वाटगंज के मेडिकल प्रैक्टिशनर रूपलाल चौधरी व उनके भतीजा सड़क पार कर रहे थे। तभी मोतिहारी से मुजफ्फरपुर की तरफ जा रही जयमाता दी नामक सवारी बस ने दोनों को अपनी चपेट में ले लिया। वे दोनों बुरी तरह कुचल गए। जिससे घटना स्थल पर ही दोनों की मौत हो गई।

 

 ग्रामीणों ने बस को घेर लिया और उसे क्षतिग्रस्त कर दिया. वहीं मुआवजे की मांग करते हुए आक्रोशित ग्रामीणों ने शव को एनएच पर रख सड़क जाम कर दिया. घटना शनिवार को करीब दस बजे के आसपास की है. बताया जाता है कि जय माता दी नामक बस संख्या बीआर06पीडी/ 1751 के लापरवाह चालक वाटगंज चौक पर मोतिहारी से मुजफ्फरपुर दिशा में तेज रफ्तार में ही एक कन्टेनर से ओवर टेक किया।


 इसी बीच सड़क किनारे गुजर रहे वाटगंज निवासी महाराज चौधरी के पुत्र डॉ रूपलाल चौधरी व उनके भतीजा डांगर चौधरी के पुत्र मिथिलेश चौधरी को अपने चपेट में ले लिया। जिससे दोनों की दर्दनाक मौत घटना स्थल पर ही हो गई। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने बस के साथ उसी कम्पनी के एक अन्य बस को क्षतिग्रस्त करते हुए राजमार्ग को जाम कर दिया। 


 ग्रामीणों की मांग थी कि मृतक को मुआवजा एवं वाटगंज चौक पर ओवर ब्रिज बनाया जाय. भारी बारिश में भी ग्रामीण छतरी लगाए सड़क जाम करने में जुटे रहे. घटना के चार घंटे बाद विधायक श्यामबाबू यादव, पीपराकोठी थानाध्यक्ष व स्थानीय जगरनाथ दास, मुखिया राजेश कुमार सिंह व अन्य के पहल पर सीओ राजकिशोर साह ने मृतक के परिजनों को चार चार लाख रुपए के चेक दिया. तब जाकर जाम समाप्त हुआ. स्थानीय थाना पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल मोतिहारी भेज दिया है. चार घंटे के जाम के कारण सड़क के दोनों दिशा में वाहनों की लंबी कतारें खड़ी रही.


चिकित्सक के रूप में करते थे सेवा: दुर्घटना में मृतक रुपलाल चौधरी वाटगंज चौक पर फार्मासिस्ट की डिग्री हासिल कर ग्रामीण चिकित्सक के रूप में काम करते थे. इनके साथ दूसरा मृतक भी रहकर कार्य करता था. बताया जाता है कि ये समाजिक सरोकार से जुड़े कार्यों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते थे. लोगों का कहना है कि जब भाजपा का सबसे पहले क्षेत्र में झंडा उठाने का कार्य किया तब से भाजपा में जुड़े रहे. इधर कुछ वर्ष पूर्व वार्ड सदस्य के रूप में निर्वाचित होकर कार्य किया. उनको तीन पुत्र व चार पुत्री है. मौत की घटना के बाद दोनों मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है. एक माह पूर्व रुपलाल चौधरी के भाई सेवा निवृत्त शिक्षक मुखलाल चौधरी का भी निधन हो गया था. और आज यह घटना घटी है. 


एक माह में सड़क दुर्घटना में हो चुकी है दर्जन भर मौत :- 

सड़क दुर्घटना के कारण पिछले एक माह पर नजर डाले तो पीपराकोठी थाना क्षेत्र के राजमार्ग 28, पर सड़क दुर्घटनाओं में दर्जन भर लोगों की मौत हो गई है. और घटना से आकर्षित लोगों ने सड़क जाम किया. जहा आज की सड़क दुर्घटना में बस की ठोकर से रुपलाल चौधरी व उनके भतीजे मिथलेश चौधरी की मौत घटना स्थल पर ही हो गई और लोगो ने चार घंटे तक एनएच 28 को जाम किया. वही दो जुलाई को बरकुरवा गांव के मुन्ना सिंह की मौत सड़क दुर्घटना में हो गई.

 

जिसको लेकर ग्रामीणों ने पीपराकोठी में तीन जुलाई को पांच घंटे तक जाम किया. इसके अलावा वाटगंज में ही महुअवा गांव के पंच टूना राम की मौत बेलोरो की ठोकर से हो गई. इसी जगह पर बाइक की ठोकर से चिन्तामनपुर निवासी सुरेश सिंह की मौत हुई. बस की ठोकर से सुनील चौधरी की मौत हो गई थी. 30 मई को जीवधारा हाई स्कूल के पास ट्रक से कुचलकर कर टिकैटा गोबिंदापुर के मुनटुन कुमार यादव व उसके शाला चिरैया बेला निवासी रामबाबू प्रसाद यादव की मौत हो गई. आठ जून को मठबंवारी में बाइक की ठोकर से सुरेन्द्र राम की मौत हो गई थी. उसी जगह पर 22 जून को पार्वती देवी की मौत हो गई थी. 19 मई को बाइक दुर्घटना में विरछपरा के देवंती देवी की मौत हो गई थी. सभी घटना के बाद ग्रामीणों द्वारा एनएच जाम किया गया. इसके अलावे कई सड़क दुर्घटनाओं में लोग घायल हुए. लोग अब पीपराकोठी के रास्ते गुजरते समय इस अंदेशा है रहते हैं कि कही फिर जाम की नौबत तो नहीं.

 

 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS