ब्रेकिंग न्यूज़
दिल्ली में आज से दो दिन लगेंगे वीकली मार्केट, 31 अक्टूबर तक जारी रहेंगे अन्य प्रतिबन्धशेयर बाजार: सेंसेक्स 629 अंक उछलकर 38,697 और निफ्टी 175 अंकों की तेजी के साथ 11,422 के स्तर पर बंदराजनाथ सिंह ने किया किसानों को आश्वस्त, कहा- न्यूनतम समर्थन मूल्य में आने वाले सालों में होती रहेगी वृद्धिभारत पहुंचा राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री का अभेद्य किला 'एयर इंडिया वन' विमान, जानें इसकी खासियतेंहाथरस कांड: पुलिस की बर्बरता के खिलाफ देशभर में कांग्रेसी कार्यकर्ता करेंगे प्रदर्शननिर्भया को इंसाफ दिलाने वाली सीमा लड़ेंगी हाथरस की बेटी का केस, पीड़ित परिवार से करेंगीं मुलाकातसीजफायर का उल्लंघन कर पाकिस्तान ने की LOC पर भारी गोलीबारी, भारतीय सेना के 3 जवान शहीद, 5 घायलराहुल गांधी की पुलिस के साथ जबर्दस्त झड़प, धक्कामुक्की के बाद सड़क पर गिरे, धरने पर बैठे, गिरफ्तार
बिहार
बिहार में प्राकृतिक आपदा बाढ़ से 16 जिले के किसान व फसलें प्रभावित
By Deshwani | Publish Date: 10/8/2020 8:50:47 PM
बिहार में प्राकृतिक आपदा बाढ़ से 16 जिले के किसान व फसलें प्रभावित

बेतिया। अवधेश कुमार शर्मा। वैश्विक महामारी कोविड 19 कोरोना वायरस से ज्यादा क्षति बिहार में आई बाढ़ से हुई है। बाढ़ से किसानों की फसल क्षति हुई है। बिहार में बाढ़ के प्रकोप से 16 जिला के किसानों की फसल क्षति हुई है और आमजन प्रभावित हुए है। जिसका आकलन किया जा रहा है। 




उपर्युक्त जानकारी बिहार सरकार के कृषि, पशुपालन व मत्स्य संसाधन मंत्री प्रेमकुमार ने सोमवार को बेतिया स्थित अतिथि भवन(सर्किट हाउस) में संवाददाता सम्मेलन के दौरान दी। उन्होंने कहा कि बिहार के किसानों को 58% कृषि संबंधित संसाधन उपलब्ध है और शेष 42% है, बाढ़ समाप्त होते ही उसका सर्वेक्षण प्रारंभ कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिन किसानों की फसल बाढ़ से ज्यादा क्षति है। वह अपने संबंधित कृषि विभाग के साइट पर ऑनलाइन आवेदन करें। जिससे उन्हें भुगतान किया जा सके। किसान श्री मे दर्जनों किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया। उन्होंने यह भी बताया कि खरीफ वर्ष 2020 के वर्षापात का सामान्य वर्षापात वास्तविक औसत वर्षा पात सामान्य औसत से 100 गुना बढ़ा है। 




पश्चिम चम्पारण जिला के सभी ब्लॉक बाढ़ प्रभावित हैं और 393 पंचायत बाढ़ के चपेट में है। पश्चिम चंपारण जिला में 25 खाद की दुकानों को निरीक्षण किया गया। जिसमें दो का लाइसेंस डिसमिस कर दिया गया। दस खाद दुकानों को सस्पेंड कर दिया गया और 13 से स्पष्टीकरण की भी मांग की गई है। पत्रकार वार्ता के दौरान बेतिया विधायक मदन मोहन तिवारी,पूर्व विधायक सह पूर्व मंत्री रेणु देवी, मुखिया उमाकांत सिंह, जिला कृषि पदाधिकारी विजय प्रकाश, जेडीए राम प्रसाद सहनी, जिला मत्स्य पदाधिकारी मनीष कुमार श्रीवास्तव, जिला पशुपालन पदाधिकारी प्रभात कुमार, मापतौल निरीक्षक समेत कई पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS